मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन


       देश में विकास, पहल और बड़े बदलाव के प्रथम 100 दिन

केंद्रीय मंत्री श्री प्रकाश जावडेकर ने सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले सौ दिनों में सरकार द्वारा लिए गए प्रमुख निर्णयों पर 8 सितंबर को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। श्री जावडेकर ने पुस्तिका ‘जन कनेक्ट’ का विमोचन किया और ‘भारत के विकास को प्रोत्साहन-100 दिनों की साहसिक पहल और निर्णायक कार्रवाई’ प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर श्री जावडेकर ने कहा कि सरकार ने अभूतपूर्व स्तर पर कई ऐतिहासिक और युगांतकारी निर्णय लिए हैं। उन्होंने इसरो के समर्पित वैज्ञानिकों के प्रति प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की संवेदनशीलता और प्रोत्साहन की और व्यापक स्तर पर वैज्ञानिक समुदाय को बढ़ावा देने की सराहना की।

श्री जावडेकर ने सरकार के प्रमुख निर्णयों का उल्लेख किया जिनमें- जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के आम लोगों के जीवन की बेहतरी के लिए अनुच्छेद 370 और 35ए को निरस्त करना, भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के विजन को प्राप्त करने की दिशा में उठाये गए कदम, बुनियादी ढांचे और सामाजिक क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निवेश, व्यवसाय करने की सरलता, तीन तलाक के खिलाफ कानून, जीएसटी और आयकर रिटर्न भरने की प्रक्रिया में भौतिक हस्तक्षेप में कमी और पारदर्शिता, जल शक्ति अभियान, हर घर बिजली योजना, गैस कनेक्शन के लिए उज्ज्वला योजना, आयुष्मान भारत, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों और छोटे व्यापारियों को सामाजिक क्षेत्र संरक्षण, दुनिया में अपनी तरह का सबसे बड़ी योजना- किसानों को वित्तीय सहायता, जनभागीदारी आन्दोलन, फिट इंडिया और एकल उपयोग प्लास्टिक के खतरे को खत्म करने के लिए अभियान, सुशासन का उपाय, संसद का उत्पादक सत्र, भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई इत्यादि शामिल हैं।

जीडीपी विकास दर पर चिंता व्यक्त करते हुए श्री जावडेकर ने जोर देकर कहा कि हालांकि अर्थव्यवस्था की मंदी चक्रीय है, इसके बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था के मूल तत्व मजबूत हैं और विदेशी निवेश तथा घरेलू मांग में वृद्धि के साथ जीडीपी विकास दर में जल्द ही बढ़ोतरी होगी।

इन सौ दिनों में रिकॉर्ड काम हुए हैं : नरेन्द्र मोदी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन पूरे होने पर कहा कि केंद्र में उनकी सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन पूरे हुए हैं। इन सौ दिनों में रिकॉर्ड काम हुए हैं। संसद के बीते सत्र में जितने बिल पास हुए हैं, जितना काम हुआ है, उतना पिछले साठ सालों में नहीं हुआ। ये बातें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 8 सितंबर को हरियाणा के रोहतक में आयोजित जनसभा में कही।

श्री मोदी ने कहा कि ये सौ दिन विकास के रहे हैं, विश्वास के रहे हैं और देश में होने वाले परिवर्तन के रहे हैं। ये सौ दिन सरकार के निर्णय के रहे हैं, निष्ठा के रहे हैं और नेकनीयत के रहे हैं। ये सौ दिन जनसंकल्प और जन सिद्धियों के रहे हैं और जन सरोकार के रहे हैं, जिसकी प्रेरणा और प्रोत्साहन देश के 130 करोड़ भारतवासी हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब भारत हर चुनौती को चुनौती देता है। चाहे जल संकट हो या कोई और संकट, 130 करोड़ देशवासियों ने मिलकर समाधान खोजना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, “बीते चार महीने में सरकार ने अपने कई और संकल्प पूरे किए हैं। मौजूदा सरकार ने देश के 8 करोड़ गरीबों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन देने का जो संकल्प लिया था, उसे पूरा कर लिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “भारतीय जनता पार्टी और हमारी सरकार ने 2024 तक हर घर को जल पहुंचाने जैसा बड़ा संकल्प लिया है। इस योजना पर साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।” प्रधानमंत्री ने कहा कि छोटे व्यापारियों के लिए तीन हजार रुपये मासिक पेंशन की योजना भी शुरू हो चुकी है और इससे जहां देश में 8 लाख व्यापारियों को लाभ मिलने वाला है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत देश के सात करोड़ और हरियाणा के 13 लाख किसानों को लाभ मिला है।

मोदी सरकार राष्ट्र सुरक्षा, विकास और गरीब कल्याण की पर्याय है : अमित शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह ने सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और अन्य मंत्रियों को बधाई दी। उन्होंने इस मौके पर सरकार द्वारा लिए गए ऐतिहासिक फैसले गिनाए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार राष्ट्र सुरक्षा, विकास और गरीब कल्याण की पर्याय है। ये सरकार देश के हर वर्ग की आशाओं की प्रतीक है।

श्री शाह ने कहा कि अपने द्वितीय कार्यकाल के 100 दिनों में प्रधानमंत्री मोदी ने कई ऐसे ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं, जिसकी राह हर देशवासी 70 सालों से देख रहा था। चाहे जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35ए हटाना हो या मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक के अभिशाप से मुक्त करना या यूएपीए कानून को मजबूत कर देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करना हो। यह सभी निर्णय प्रधानमंत्री मोदी की निर्णायक नेतृत्व क्षमता व राष्ट्रहित के प्रति उनकी अटूट प्रतिज्ञा को दर्शाते हैं।

श्री शाह ने कहा कि मैं समस्त देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि मोदी सरकार आपके विकास, कल्याण और सुरक्षा के लिए निरंतर कटिबद्ध है। बता दें लोकसभा चुनाव में दूसरी बार बहुमत हासिल कर भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने दूसरी बार सरकार बनाई है। प्रधानमंत्री मोदी ने 30 मई को दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली।

ट्रिपल तलाक की कुप्रथा समाप्त हुई : थावर चंद गहलोत

केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावर चंद गहलोत ने 100 दिनों में केंद्र सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देते हुए 9 सितंबर को कहा कि मंदी का वातावरण भयभीत करने वाला नहीं हैं। रायपुर में आयोजित पत्रकार-वार्ता में श्री गहलोत पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। रोजगार निर्माण के संबंध में उन्होंने कहा कि 17 करोड़ से ज्यादा लोगों ने बैंक से लोन लेकर अपना व्यवसाय शुरू किया है।

100 दिनों की उपलब्धि बताते हुए उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर को मुख्यधारा में लाना, 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था का लक्ष्य को पूरा करने की प्रतिबद्धता, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का विलय और अतिरिक्त क्रेडिट विस्तार बैंक ऋण की ब्याज दरों में समय पर कटौती ऑटोमोबाइल क्षेत्र में गति के उपाय, 5 वर्षों में 100 लाख करोड़ रुपए से अधिक की बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की पाइपलाइन को अंतिम रूप देने के लिए गठिक एक अंतर मंत्रालय इन कार्यबल के माध्यम से व्यापक आर्थिक सुधार किया जा रहा हैं। सीएसआर उल्लंघन को नागरिक दायित्व के रूप में माना जाएगा।

400 करोड़ रुपए से कम के वार्षिक टर्नओवर वाली कंपनियों के कारपोरेट कर में 25 प्रतिशत की कमी हुई है। सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने के लिए ट्रिपल तलाक की कुप्रथा को समाप्त किया गया। पोक्सो अधिनियम में संशोधन किया गया बच्चों के यौन हमले के लिए मौत की सजा का प्रावधान किया गया। ट्रांसजेंडर व्यक्तियों (अधिकारों का संरक्षण) विधेयक 2019-ट्रांसजेंडर के अधिकारों का संरक्षण और भेदभाव की रोकथाम जोकि ट्रांसजेंडर व्यक्ति के अधिकारों को परिभाषित करता है।

किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री किसान योजना का विस्तार 6.37 करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य, रेल को देश का विकास इंजन बनाने के लिए 2030 तक निवेश 50 लाख करोड़ रुपए करने की योजना हैं।

उन्होंने आगे कहा कि 150 एकलव्य आवासीय विद्यालय की स्वीकृति दी गई है, 55 पहले से चालू है, 2022 तक हर ग्रामीण परिवार को बिजली और गैस कनेक्शन सुनिश्चित करने का लक्ष्य, 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों को पीने का पानी उपलब्ध कराया जाएगा। उज्ज्वला योजना के तहत 100 दिनों के भीतर 8 करोड़ का लक्ष्य प्राप्त किया गया हैं।

80 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को जोड़ा गया है, चंद्रयान-2 के माध्यम से नए क्षितिज की खोज की जा रही है। सुरक्षा और रक्षा के क्षेत्र में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति का निर्णय लिया गया, अपाचे-हेलीकॉप्टरों को हवाई बेड़े में शामिल किया गया। धारा 370 निरस्त करने के फैसले के साथ जी-7, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ब्रिटेन, फ्रांस, अमेरिका, रूस जैसे बड़े देश खड़े हैं। भारत का वैश्विक कद बढ़ा है। ग्लोबल लीडरशिप में भारत अग्रणी रहा हैं।

8 करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन मिला : रमेश पोखरियाल ‘निशंक’

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने केंद्र सरकार की 100 दिन की उपलब्धियों पर 9 सितंबर को देहरादून में एक प्रेस कांफ्रेंस की। हाल के महीनों में सरकार की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि निर्णायक कदमों की बहु-आयामी प्रकृति एक ऐतिहासिक घटना रही है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि लंबे समय से चले आ रहे आतंकी माहौल पर कार्रवाई है। उन्होंने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में यथास्थिति में बदलाव से इसे न सिर्फ भारत के साथ जोड़ा गया है, बल्कि इससे कश्मीर के लोगों को भी लाभ होगा।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार लाभ के सीधे स्थानांतरण यानी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से नागरिकों तक सेवाएं पहुंचाने में क्रांति लाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि निर्धारित समय-सीमा से सात महीने पहले ही 8 करोड़ लाभार्थी परिवारों को गैस कनेक्शन देने का मुकाम हासिल कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस तरह की प्रतिबद्धता सरकार के हर काम को चित्रित करती है।

चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ का जिक्र करते हुए पोखरियाल ने कहा कि इसने 3,84,000 किलोमीटर का सफर सफलतापूर्वक पूरा किया। अपने सफर के आखिरी हिस्से में वह लड़खड़ा गया। अंतरिक्ष की यह यात्रा आगे के विकास की दिशा में एक कदम है।

उन्होंने इसरो के वैज्ञानिक समुदाय के प्रति माननीय प्रधानमंत्री के संवेदनशील भाव की सराहना की। केंद्रीय मंत्री ने देश में उच्च शिक्षा को अगले स्तर तक ले जाने के लिए केंद्र सरकार की योजनाओं को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि सरकार आईआईटी और राष्ट्रीय महत्व वाले दूसरे संस्थानों को विश्व रैंकिंग में शीर्ष स्तर पर लाने के लिए प्रतिबद्ध है।

पहाड़ी राज्य उत्तराखंड से जुड़े मुद्दों पर श्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि काफी समय से लंबित 2,675 करोड़ रुपये की राशि प्रतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण (कैंपा) फंड के तहत जारी कर दी गई है।

भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर तेजी से अग्रसर : अर्जुन मुंडा

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के सफलतापूर्वक 100 दिन पूरे होने पर 9 सितंबर को रांची में केंद्रीय जनजातीय मामले मंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने एक पत्रकार सम्मेलन को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 100 दिनों में हर क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य करते हुए कई साहसिक फैसले लिए हैं। “एनडीए-2 ने 100 दिन के कालखंड में नया इतिहास बनाने का कार्य किया है। इसी तरह जनता को किए हुए वादों को अगले पांच सालों तक आगे बढ़ाएंगे। भारत सरकार पूरे देश के लिए कार्य कर रही है, जिससे सबका लाभ हो, सबके मौलिक हितों की रक्षा हो और उसे अपना हक मिले। हम देश के हितों को अंतराष्ट्रीय स्तर पर भी आगे ले जाने का काम कर रहे हैं,” श्री मुंडा ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कश्मीर से 370 और 35A हटाने, आर्थिक क्षेत्र में किए गए सुधारों, खासकर सरकारी बैंकों के एकीकरण और कारोबार में सुगमता से जुड़े हुए फैसलों से तात्कालिक समय के साथ दूरगामी स्थिति में जहां देश को फायदा पहुंचेगा, वहीं अर्थव्यवस्था भी सुदृढ़ होगी। इस तरह हम अपने लक्ष्य भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की तरफ तेजी से अग्रसर होंगे।

इन 100 दिनों में सरकार ने जल संसाधन मंत्रालय के जरिये जल क्षेत्र को बढ़ाने, बारिश के पानी को रोकने और भविष्य के लिए जल सुरक्षा जैसे महत्वाकांक्षी कार्य करने की योजना बनाई है।

वहीं महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी कई अहम निर्णय लिए गए जिसमें तीन तलाक को दंडनीय जुर्म बनाना सबसे सराहनीय कार्य रहा। भ्रष्टाचार पर भी सरकार ने कठोर कदम उठाए हैं। देश की जनता को एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार की जरूरत है। इस दौरान भारत ने इनोवेशन इंडेक्स पर भी लंबी छलांग के साथ 52 स्थान प्राप्त किया, जो देश की बौद्धिक क्षमता को दर्शाता है।