‘चन्द्रबाबू नायडू का धोखेबाजी का इतिहास रहा है’

                                                         शक्ति केंद्र कार्यकर्ता सम्मेलन, आंध्र प्रदेश

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 21 फरवरी को आंध्र प्रदेश की सांस्कृतिक राजधानी राजमुंदरी में आंध्र प्रदेश के पांच लोक सभा क्षेत्रों काकीनाडा, राजमुंदरी, अमलापुरम, नारासपुरम और यूरु लोक सभा क्षेत्रों के शक्ति केंद्र कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित किया और पुलवामा हमले में शहीद वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कार्यकर्ताओं से कांग्रेस पार्टी और तेलुगुदेशम को आंध्र प्रदेश से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। इससे पहले माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी राजमुंदरी के वार्ड संख्या 47, सिद्धार्थ नगर स्थित प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी पी. ज्योति के घर गए और उनके साथ मोदी सरकार की उपलब्धियों पर चर्चा करते हुए पार्टी के देशव्यापी लाभार्थी महासंपर्क अभियान का शुभारंभ किया। तत्पश्चात् उन्होंने आनंद नगर, राजमुंदरी स्थित क्वेरी मार्किट जंक्शन में भाजपा शहर कार्यालय का उद्घाटन भी किया।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर कड़ा प्रहार करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू कह रहे हैं कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का कोई हाथ नहीं है। अरे नायडू जी, आपको पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पर तो भरोसा है, अपने देश के प्रधानमंत्री पर भरोसा नहीं है? इतने निम्न स्तर की राजनीति मत कीजिये चंद्रबाबू नायडू जी, चुनाव में आंध्र प्रदेश की जनता आपसे इसका हिसाब मांगेगी, आप इमरान खान का पक्ष ले रहे हैं! आप तय कर लीजिये कि सत्ता के लालच में आप राजनीति में कितना और नीचे गिरना चाहते हैं।

श्री शाह ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू कभी पश्चिम बंगाल में, कभी दिल्ली में, कभी तमिलनाडु में तो कभी कर्नाटक में जाकर धरना दे रहे हैं। चंद्रबाबू नायडू जी, यदि आपको धरना देना ही है तो अपने पार्टी कार्यालय के बाहर धरना दीजिये, जिसने पांच साल में आंध्र प्रदेश के लिए कुछ भी नहीं किया है।
राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि टीडीपी और जगन बाबू की पार्टी आंध्र प्रदेश का कभी भला नहीं कर सकती, क्योंकि दोनों परिवारवादी और भ्रष्टाचारी पार्टियां हैं और चंद्रबाबू नायडू का तो धोखेबाजी का इतिहास भरा पड़ा हुआ है। पहले चंद्रबाबू नायडू ने महान एनटीआर को धोखा दिया, फिर श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी को धोखा दिया और अब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को धोखा देकर अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायडू को कोई अवार्ड मिले या न मिले लेकिन यदि सबसे बड़े धोखेबाज का कोई अवार्ड हो तो यह अवार्ड चंद्रबाबू नायडू को दिया जाएगा।