कांग्रेस का न कोई नेता है, न नीति और न नीयत : अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 15 नवंबर को मध्य प्रदेश के बड़वानी और शाजापुर में विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया और कांग्रेस पर मध्य प्रदेश के विकास की अनदेखी करने वाली पार्टी बताते हुए राहुल गांधी पर करारा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश भर में चल रही विकास यात्रा में सारा भारतवर्ष एकजुट है। मध्य प्रदेश में पिछली बार से भी अधिक बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनना तय है।

श्री शाह ने कहा कि मध्य प्रदेश की जनता के सामने दो विकल्प है – एक ओर भारतीय जनता पार्टी है जिसने विगत 15 वर्षों में श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्य प्रदेश को ‘बीमारू’ से ‘विकसित’ राज्य बनाया, वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश को ‘बीमारू’ राज्य बनाने वाली कांग्रेस पार्टी है जिसका न तो कोई नेता है, न नीति, न नीयत और न ही कोई सिद्धांत। उन्होंने कहा कि एक ओर जनता के बीच से निकले हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और श्री शिवराज सिंह चौहान का नेतृत्व है तो दूसरी ओर राजा, महाराजा और उद्योगपतियों की कांग्रेस पार्टी जिसके 10 वर्षों के सोनिया-मनमोहन सरकार में 12 लाख करोड़ रुपये से अधिक के घपले-घोटाले हुए। उन्होंने कहा कि हम श्री शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ रहे हैं, कांग्रेस बताये कि राज्य में उसका नेता कौन है?

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह की सरकार के समय मध्य प्रदेश में कुल सिंचित भूमि महज साढ़े सात लाख हेक्टेयर थी, जबकि शिवराज सरकार ने इसे बढ़ा कर 40 लाख हेक्टेयर करने का काम किया है। अगले पांच सालों में हमारा लक्ष्य प्रदेश की 80 लाख हेक्टेयर भूमि को सिंचित करना है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह की कांग्रेस सरकार किसानों से कृषि ऋण पर 18% का ब्याज वसूलती थी, जबकि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने ब्याज को घटाते-घटाते ख़त्म कर दिया है। इतना ही नहीं, मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार जहां किसानों को कृषि के लिए केवल 1,300 करोड़ रुपये का ऋण देती थी, जबकि शिवराज सिंह चौहान सरकार ने इसे बढ़ा कर 13,588 करोड़ रुपये कर दिया है। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह सरकार के समय केवल 214 लाख मीट्रिक टन अनाज का उत्पादन होता था, जबकि शिवराज सरकार के समय आज 545 लाख मीट्रिक टन अनाज का उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम 2022 तक किसानों की आय को दुगुना करने के लक्ष्य पर तेज गति से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य का निर्धारण कर किसानों को सशक्त बनाने का काम किया है। आज बोनस के साथ धान के फसल की खरीद की जा रही है, राज्य में 80 लाख से अधिक कृषकों को स्वायल हेल्थ कार्ड दिया गया और नीम कोटेड यूरिया से यूरिया की कालाबाजारी ख़त्म की गयी।

श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के पास झूठ बोलने के सिवा और कोई काम ही नहीं है। सभी कांग्रेसी नेताओं को 15 साल बाद अचानक मध्य प्रदेश का विकास याद आने लगा है। श्रीमान बंटाधार की सरकार थी तब गांवों में सड़कें नहीं थी, आज हर गांव सड़क से जुड़ गया है। 15 साल पहले गांवों में बिजली नहीं थी, आज 24 घंटे बिजली मिल रही है। कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, बिजली, सड़क, पेयजल – हर क्षेत्र में शिवराज सरकार ने मध्य प्रदेश में विकास के आयाम ही बदल दिए।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी हर दिन झूठ का पिटारा लेकर बैठ जाते हैं और ढिंढोरा पीटने लगते हैं कि श्री नरेन्द्र मोदी जी ने साढ़े चार सालों में क्या किया? अरे राहुल गांधी जी, केंद्र में आपकी चार-चार पीढ़ियों ने शासन किया, लेकिन मध्य प्रदेश के लिए आपने क्या किया, पहले इसका हिसाब तो प्रदेश की जनता को दीजिये! उन्होंने कहा कि केंद्र में 55 सालों तक कांग्रेस की सरकार रही, राज्य में कई वर्षों तक कांग्रेस की सरकार रही, लेकिन न तो आदिवासी भाई-बहनों के लिए कांग्रेस सरकार ने कुछ किया और न ही प्रदेश के विकास के लिए। उन्होंने कहा कि केंद्र में 10 वर्षों तक कांग्रेस पार्टी की सोनिया-मनमोहन की सरकार रही, लेकिन इस दौरान कांग्रेस सरकार ने मध्य प्रदेश के विकास के लिए क्या किया – इसका हिसाब राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया महाराज को देना चाहिए। लेकिन ये हिसाब देंगे नहीं क्योंकि इन्होंने मध्य प्रदेश के लिए कुछ किया ही नहीं है, बस जनता को गुमराह करते रहेंगे।
राहुल गांधी के भाषणों पर निशाना साधते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गांधी अपने पूरे भाषण में कभी इस पर बात नहीं करते कि उनका राज्य के विकास का एजंडा क्या है या उन्होंने राज्य के विकास के लिए क्या किया, बस मोदी नाम की माला जपते रहते हैं। मुझे तो समझ ही नहीं आता कि राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी का प्रचार कर रहे हैं या भारतीय जनता पार्टी का! दरअसल राहुल गांधी को ‘मोदीफोबिया’ हो गया है। राहुल गांधी को सीख देते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, मध्य प्रदेश में आप सपने देखने बंद कर दो, यह भारतीय जनता पार्टी का गढ़ है, यह श्रद्धेय कुशाभाऊ ठाकरे जी, राजमाता विजयाराजे सिंधिया और श्री प्यारेलाल खंडेलवाल की भूमि है, यहां कांग्रेस की दाल कभी भी गलनेवाली नहीं है।