2019 का चुनाव देश में जातिवाद, परिवारवाद एवं संप्रदायवाद के खिलाफ जनमत : अमित शाह


गत 13 जून को भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में संपन्न हुई। इस बैठक की अध्यक्षता भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने की। बैठक में संगठनात्मक विषयों पर विचार-विमर्श हुए।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव श्री भूपेन्द्र यादव एवं श्री अरुण सिंह ने 13 जून को पार्टी के केन्द्रीय़ कार्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इससे पूर्व भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने पार्टी मुख्यालय में राष्ट्रीय पदाधिकारियों एवं प्रदेश प्रभारियों की बैठक का उदघाटन करते हुए अपने अभिभाषण में कहा कि भारत की जनता ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व एवं सुशासन वाली सरकार के लिए प्रचंड बहुमत के साथ अपना आशीर्वाद दिया। भारतीय जनता पार्टी की यह अभूतपूर्व और विशाल जीत बूथ स्तरीय करोड़ों कार्यकर्ताओं की मेहनत को समर्पित है।
राष्ट्रीय अध्यक्ष के अभिभाषण का उल्लेख करते हुए श्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने अपने पहले कालखंड में राष्ट्रवाद के विचार को लेकर जबकि दूसरे कालखंड में लोकतंत्र बचाने को लेकर आगे बढ़ी। उसके बाद देश में भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई लड़ी। 2014-2019 का कार्यकाल पार्टी के सुशासन और संगठन का कार्यकाल रहा।

उन्होंने कहा कि इन 5 वर्षों में भारतीय जनता पार्टी के 11 करोड़ से ज्यादा सदस्य बने और 10 लाख कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण हुआ। बूथ और शक्ति केंद्र इकाईयों का गठन हुआ। अनेक संगठनात्मक कार्यक्रम किये गए। साथ ही, सभी वर्गों को जोड़ने का काम किया गया और 4 लाख से ज्यादा कार्यकर्ता विस्तारक अभियान का हिस्सा बने। यह सबसे बड़ा कार्यक्रम था जब पार्टी के विचारों को घर घर तक पहुंचाया गया।

राष्ट्रीय़ अध्यक्ष ने कहा कि 2019 का चुनाव देश में जातिवाद, परिवारवाद एवं संप्रदायवाद के खिलाफ जनमत है। भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश में जाति आधारित महागठबंधन के मिथक को समाप्त किय़ा। उत्तर पूर्व राज्यों में पार्टी का विस्तार किया गया और ओडिशा एवं तेलंगाना जैसे राज्यों में जनाधार में विस्तार के साथ ही, देश में जीते हुए 303 सीटों में 220 में पचास प्रतिशत से ज्यादा मत प्राप्त करने में भारतीय जनता पार्टी सफल रही।

श्री भूपेंद्र यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के 9 अगस्त 2014 को राष्ट्रीय परिषद की बैठक में दिए गए उद्बोधन का जिक्र किया, जिसमें श्री शाह ने कहा था कि भाजपा का उच्चतम लक्ष्य अभी नहीं आया है। अब भी जिन क्षेत्रों में हमारा विस्तार नहीं हुआ है, वहां जाकर भारतीय जनता पार्टी का विस्तार करना है। श्री यादव ने कहा की 2019 के लोकसभा चुनाव में जिस प्रकार से पुराने क्षेत्रों में अपना आधार मजबूत रखते हुए नए क्षेत्रों में विस्तार किया गया है, पार्टी अपने परिश्रम के साथ लगातार अपने उस विस्तार अभियान को जारी रखेगी।

श्री यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आंतरिक लोकतंत्र मजबूत रखने के लिए “संगठन पर्व” कार्य़क्रम को प्रारंभ करेगी और पार्टी आगामी तीन वर्ष के कार्यकाल में सदस्यता बढ़ाने का जो विषय होता है, उस लक्ष्य को प्राप्त करेगी। इसके लिए भारतीय जनता पार्टी वर्तमान सदस्यता में न्यूनतम 20 प्रतिशत की वृद्धि करने का अभियान आरंभ करेगी। इस उद्देश्य की प्राप्ति हेतु भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को सदस्यता अभियान का राष्ट्रीय प्रमुख एवं श्री दुष्यंत गौतम, श्री सुरेश पुजारी, श्री अरुण चतुर्वेदी एवं श्रीमती शोभा सुरेंद्रण को सह प्रमुख बनाया गया है। विभिन्न प्रदेशों में सदस्यता प्रभारी एवं सह प्रभारी की घोषणा बाद में की जाएगी। सदस्यता अभियान संगठन पर्व के पश्चात चुनावी कार्यक्रमों की घोषणा की जाएगी।

संगठन पर्व के रूप में चलेगा भाजपा का सदस्यता अभियान : शिवराज सिंह चौहान

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराज सिंह चौहान ने 14 जून को राजधानी स्थित पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए लोक सभा चुनाव में पार्टी के शानदार प्रदर्शन पर अपने सभी 11 करोड़ कार्यकर्ताओं को धन्यवाद और बधाई दी। उऩ्होंने कहा कि इस शानदार सफलता के पीछे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की असाधारण लोकप्रियता और हमारे अध्यक्ष श्री अमित शाह की अचूक रणनीति रही है। 2015 में जो सदस्यता अभियान चला था और उसके परिणाम स्वरूप इस बार चुनाव में हर बूथ पर हमारे सदस्य उपस्थित थे। उन्होंने याद दिलाया कि गुरूवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस बात पर जोर दिया है।

उऩ्होंने कहा कि भाजपा ने शानदार सफलता अर्जित की है, लेकिन इसका सर्वोच्च अभी आना बाकी है। श्री चौहान ने उन्होंने कहा कि सरकार का मूल सबका साथ-सबका विकास और संगठन का मूल सर्वस्पर्शी और सर्वव्यापी भाजपा है और इसलिए हम इस विशेष सदस्यता अभियान को जिसे संगठन पर्व का नाम दिया गया है, उसे सभी बूथों पर चलायेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे युवा वर्ग में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति एक लगाव है, जुनून है तथा वह उनसे दिल से जुड़ा हुआ है और इसलिए पार्टी हर युवा को सदस्यता देगी। इसके अलावा समाज के प्रतिष्ठित लोगों को भी सदस्य बनाने का काम किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 13 जून को भारतीय जनता पार्टी ने श्री चौहान को राष्ट्रीय सदस्यता अभियान का संगठन प्रमुख बनाया। उन्होंने कहा कि भाजपा के देश भर में 11 करोड़ सदस्य हैं और हम लोगों को न्यूनतम 20% सदस्य और बढ़ाने हैं। इस हिसाब से हमारा टार्गेट 2 करोड़ 20 लाख है। लेकिन यह टार्गेट अंतिम नहीं है, कई राज्यों में हम 20% की सीमा से भी ज्यादा सदस्य बनाएंगे। इसकी रणनीति और रूपरेखा हमने बनाई है। श्री चौहान ने बताया कि यूं तो यह अभियान देश भर में चलेगा लेकिन कुछ राज्यों जैसे बंगाल, तमिलनाडु, केरल, कश्मीर घाटी, ओडिशा, पुदुचेरी, लक्षद्वीप, तेलंगाना, आन्ध्र प्रदेश और सिक्किम जैसे राज्यों में यह अभियान विशेष रूप से चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि भाजपा अपने विशेष सदस्यता अभियान को स्वर्गीय श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती पर 6 जुलाई से शुरू करने जा रही है। 16 से 31 अगस्त तक सक्रिय सदस्य बनाने का काम होगा।