देश में व्यापक परिवर्तन का युग शुरू


मोदी सरकार ने अपनी दूसरी पारी के सौ दिन पूरे कर लिए। इन सौ दिनों में अनगिनत उपलब्धियों का अंबार लगाते हुए करोड़ों जनों के स्वप्न साकार हुए हैं। कुछ उपलब्धियां तो इतनी अद्भुत हैं कि उनसे भारतीय राजनीति की दिशा बदल गई है और पूरा देश नए आत्मविश्वास एवं उत्साह से सराबोर है। धारा 370 एवं 35ए की समाप्ति तथा जम्मू–कश्मीर राज्य का पुनर्गठन ऐसी उपलब्धि है जो इतिहास के पन्नों में स्वर्णाक्षरों से अंकित हो चुका है। यह एक ऐसा कदम है जिससे यह पता चलता है कि एक साहसी नेतृत्व किस प्रकार से दृढ़ राजनैतिक इच्छाशक्ति तथा अपने निर्णय पर कायम रहकर एक नया युग प्रारंभ कर सकता है। इतना ही नहीं, इस विषय पर संसद के दोनों सदनों में जिस प्रकार का समर्थन विभिन्न राजनैतिक दलों ने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर दिया, उससे धारा 370 एवं 35ए की समाप्ति के पक्ष में देश की आम जनभावना परिलक्षित हुई है। यह भावना संसद में तब देखी गई जब तीन तलाक जैसी महिला विरोधी सामाजिक कुरीति पर विधेयक पारित हुआ। इससे देश में तुष्टीकरण की राजनीति के फलस्वरूप चल रही इस कुप्रथा की समाप्ति पर संसद की निर्णायक मुहर लग गई है। इसके अलावा अनेक पहलें, प्रमुख रूप से यूएपीए कानून में संशोधन तथा एनआईए को मजबूत किये जाने से आतंकवाद के विरुद्ध देश की लड़ाई को और भी अधिक बल मिला है। इन निर्णयों का दूरगामी परिणाम निकलेगा और यह स्पष्ट संदेश गया है कि देश आतंकवाद पर ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर मजबूती से आगे बढ़ रहा है। देश के इतिहास में सर्वाधिक सफल संसदीय सत्रों में से एक, यह पिछला सत्र रहा है जो देश की बदलती हुई कार्य-संस्कृति एवं जन-जन के विकास के लिये राजनैतिक प्रतिबद्धता का द्योतक है।

इसमें कोई संदेह नहीं कि राष्ट्र एक नए उत्साह एवं आशा के साथ आगे बढ़ रहा है। मोदी सरकार की अभिनव योजनाओं से जहां एक ओर लोगों की आकाक्षाएं और अधिक पल्लवित हो रही हैं वहीं दूसरी ओर इन योजनाओं का तीव्र कार्यान्वयन लोगों की अपेक्षाओं से भी अधिक हो रहा है। जैसे ही मोदी सरकार केन्द्र में पुन: जनादेश प्राप्त कर आई इसने देश में व्यापक आधारभूत संरचनाओं के विकास के लिए आने वाले पांच वर्षों में 100 लाख करोड़ रुपए से भी अधिक के निवेश का निर्णय लिया है, जिससे देश में एक क्रांतिकारी परिवर्तन होगा। अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं तथा विभिन्न बैंकों के विलय से इस दिशा में आर्थिक सुधार का मार्ग प्रशस्त हुआ है तथा ‘एनपीए’ की समस्या पर भी सकारात्मक कदम उठाये गए हैं। सरकार ने अपने सभी प्रतिबद्धताओं पर त्वरित कार्रवाई की है। किसानों के लिए ‘किसान सम्मान निधि’ का दायरा बढ़ाकर 14.5 करोड़ किसानों को इसका लाभ पहुंचाया है। खुदरा व्यवसायी एवं छोटे दुकानदारों के लिए पहली बार पेंशन योजना लाकर इस क्षेत्र में लगभग 3 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचाया गया है। जलशक्ति मंत्रालय की शुरुआत कर अब हर घर तक पेयजल पहुंचाने की योजना पर कार्य शुरू हो चुका है। सामाजिक–आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों एवं क्षेत्रों के लिए अनेक अभिनव योजनाएं क्रियान्वित कर पूरे देश में व्यापक परिवर्तन का युग शुरू हो चुका है।

जहां मोदी सरकार ने पिछले 100 दिनों में अनेक उपलब्धियां प्राप्त की हैं, वहीं दूसरी ओर एक राजनैतिक संगठन के रूप में भाजपा ने 50 प्रतिशत से भी अधिक और नए सदस्यों को दल से जोड़कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। आज भाजपा विश्व का सबसे बड़ा राजनैतिक दल है। अब इसकी सदस्य संख्या 11 करोड़ से बढ़कर 18 करोड़ से भी अधिक हो गई है तथा पूरे देश में इसका आधार व्यापक एवं गहरा हुआ है। इस सर्वस्पर्शी एवं सर्व-समावेशी सदस्यता अभियान की जबरदस्त सफलता भाजपा की निरंतर बढ़ती लोकप्रियता को दर्शाता है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह एवं कार्यकारी अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा के नेतृत्व में भाजपा के कर्मठ कार्यकर्ता हर लक्ष्य को समय से पूर्ण एवं अपेक्षा से अधिक प्राप्त करने में सफलता प्राप्त कर रहे हैं। ‘मां भारती’ की सेवा में समर्पित भाजपा के कार्यकर्ताओं का उत्साह एवं कार्यक्षमता वास्तव में अभिनंदनीय है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के करिश्माई नेतृत्व में देश नित नई ऊंचाइयों को छू रहा है तथा हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था में भाजपा का उदय आशा की एक नई किरण के रूप में हुआ है। पिछले 100 दिनों में देश ‘स्पीड, स्केल एवं स्किल’ के साथ तीव्र गति से आगे बढ़ा है और भाजपा करोड़ों लोगों के स्वप्न साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

 shivshakti@kamalsandesh.org