पर्यटन से हुई 1,80,379 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा आमदनी

केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय द्वारा 17 जनवरी को जारी एक रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2017 के दौरान विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) वर्ष 2016 की तुलना में 17.0 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1,80,379 करोड़ रुपये हो गई, जबकि वर्ष 2015 की तुलना में वर्ष 2016 में यह 14.0 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1,54,146 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी। दूसरे शब्दों में, अमेरिकी डॉलर के लिहाज से दिसंबर, 2017 के दौरान एफईई 3.038 अरब अमेरिकी डॉलर आंकी गई, जबकि यह दिसंबर 2016 में 2.439 अरब अमेरिकी डॉलर और दिसंबर 2015 में 2.126 अरब अमेरिकी डॉलर दर्ज की गई थी।

गौरतलब है कि पर्यटन मंत्रालय रुपये एवं डॉलर दोनों ही लिहाज से भारत में हर महीने पर्यटन के जरिए विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) का आकलन करता है। यह भारतीय रिजर्व बैंक के भुगतान संतुलन से जुड़े यात्रा प्रमुख के क्रेडिट डेटा पर आधारित होता है।

दिसंबर 2017 और जनवरी-दिसंबर, 2017 के दौरान भारत में पर्यटन से विदेशी मुद्रा आमदनी (एफईई) के अनुमानों की मुख्य बातें निम्नलिखित हैं –
दिसंबर, 2017 में एफईई 19,514 करोड़ रुपये रही, जबकि दिसंबर, 2016 में यह 16,558 करोड़ रुपये और दिसंबर, 2015 में 14,152 करोड़ रुपये थी। दिसंबर, 2016 के मुकाबले दिसंबर, 2017 में रुपये के लिहाज से एफईई की वृद्धि दर 17.9 प्रतिशत दर्ज की गई, जबकि दिसंबर, 2015 के मुकाबले दिसंबर, 2016 में यह वृद्धि 17.0 प्रतिशत आंकी गई थी।

दिसंबर 2016 के मुकाबले दिसंबर 2017 में अमेरिकी डॉलर के लिहाज से एफईई की वृद्धि दर 24.6 प्रतिशत रही, जबकि दिसंबर 2015 की तुलना में दिसंबर 2016 में यह वृद्धि दर 14.7 प्रतिशत रही थी। वर्ष 2017 के दौरान एफईई वर्ष 2016 की तुलना में 20.8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 27.693 अरब अमेरिकी डॉलर हो गई, जबकि वर्ष 2015 की तुलना में वर्ष 2016 में यह 8.8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 22.923 अरब अमेरिकी डॉलर दर्ज की गई थी।