नहीं रहे पूर्व भाजपा सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा


(11 जून 1956 -18 जनवरी 2020)

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा का निधन हो गया। श्री अश्विनी कुमार लंबे वक्त से बीमार थे। उन्होंने 18 जनवरी को गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। वे 63 वर्ष के थे। श्री अश्विनी कुमार पत्रकारिता जगत के एक जाने-पहचाने नाम थे। वह पंजाब केसरी के मुख्य संपादक थे।

अश्विनी कुमार चोपड़ा का जन्म 11 जून 1956 को जालंधर में हुआ था। ‘मिन्ना’ नाम से लोकप्रिय श्री अश्विनी कुमार अपनी युवावस्था में एक होनहार क्रिकेटर थे। श्री अश्विनी कुमार 2014 से 2019 तक हरियाणा के करनाल संसदीय क्षेत्र से सांसद रहे।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि पंजाब केसरी के प्रधान संपादक एवं पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा जी के निधन से शोक स्तब्ध हूं। उनका निधन पत्रकार जगत एवं संगठन के लिए एक अपूर्णीय क्षति है। उन्होंने कहा, “मैं शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं।”

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि पंजाब केसरी के प्रधान सम्पादक एवं पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन से मुझे अत्यंत दु:ख पहुंचा है। वे एक निर्भीक पत्रकार थे, जो बड़ी बेबाक़ी से विभिन्न मुद्दों पर राष्ट्रहित और समाज हित में अपनी बात रखते थे। उनके योगदान के लिए उन्हें हमेशा याद किया जायेगा। ओम् शांति!

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने पूर्व सांसद के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए और ट्वीट किया, ‘‘करनाल के पूर्व सांसद और पंजाब केसरी, दिल्ली के संपादक अश्विनी चोपड़ा के निधन के बारे में जानकर काफी दु:ख पहुंचा। एक सक्षम राजनेता और एक सफल पत्रकार के रूप में आपका जीवन हम सभी का मार्गदर्शन करता रहेगा।”

शोक संदेश

अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन से बहुत दु:ख हुआ। उन्हें मीडिया जगत में उनके योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने जनप्रतिनिधि के रूप में काम किया और कई सामुदायिक कल्याणकारी योजनाओं की पहल की। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें और उनके परिवार को ये कष्ट सहने की शक्ति दें।

-नरेन्द्र मोदी, प्रधानमंत्री