पूसा कृषि विज्ञान मेला-2020 का उद्घाटन


केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कृषि क्षेत्र में प्रतिभा के अवधारण का आह्वान किया। पूसा कृषि विज्ञान मेला-2020 का 1 मार्च को नई दिल्ली में उद्घाटन करते हुए श्री तोमर ने कहा कि भारत में प्रत्येक वर्ष विश्वविद्यालयों से बड़ी संख्या में कृषि वैज्ञानिक एवं विशेषज्ञ तैयार होकर निकलते हैं।

श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता दी है और 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस दिशा में सरकार ने किसानों के लिए लागत मूल्य का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) सुनिश्चित किया है तथा पीएम किसान योजना के तहत किसानों के लिए प्रतिवर्ष 6,000 रुपये का आश्वासन दिया है और किसान क्रेडिट कार्ड के तहत 1,60,000 रुपये के ऋण का प्रावधान किया है। प्रधानमंत्री ने किसानों के लिए लाभों के वितरण में पारदर्शिता सुनिश्चित की है तथा अब इसमें मध्यस्थों एवं दलालों की कोई भूमिका नहीं है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, कृषि क्षेत्र के लिए धन तथा बजटीय सहायता की कोई कमी नहीं होगी।

श्री तोमर ने कहा कि सहकारी कृषि को बढ़ावा देने के क्रम में प्रधानमंत्री ने कल 10,000 नए किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के पंजीकरण की शुरुआत की। फसल की बुवाई, कटाई से लेकर वितरण एवं विपणन से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों के लिए प्रत्येक एफपीओ को कुल 15 लाख रुपये देने के लिए 6,600 करोड़ रुपये का बजटीय प्रावधान किया गया है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए नाबार्ड एवं एनसीडीसी द्वारा संयुक्त रूप से 1,500 करोड़ रुपये की ऋण गारंटी निधि तैयार की गयी है।