नए युग में भारत का प्रवेश


लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश को पुन: एक बार आत्मविश्वास, गहरे दृढ़ संकल्प और ऊंचे महत्वाकांक्षाओं के साथ देश को नई ऊंचाइयां छूने का आह्वान किया है। यह निरंतर छठी बार है जब प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को बड़े लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रेरित किया है तथा हर एक नागरिक में ‘नए भारत’ के लिए नई आशा एवं संकल्प को मजबूत किया है। हर एक व्यक्ति को राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया से जोड़ने का प्रधानमंत्री के प्रयासों का प्रतिफल तब सामने आता है जब विभिन्न सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के लिए उनके अपील पर करोड़ों लोग सब्सिडी एवं अन्य सहूलियतें स्वत: त्याग देते हैं। सरकार की अनेक योजनाओं एवं प्रकल्पों के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भारी जनसमर्थन जुटाने में सफल रहे हैं। फलत: जनभागीदारी के कारण ये कार्यक्रम जनांदोलनों का रूप ले रहे हैं। परिणामस्वरूप अनेक क्षेत्रों में भारत को अद्भुत उपलब्धियां प्राप्त हो रही हैं, जिसकी पूरे विश्व में सराहना हो रही है। राष्ट्र के नाम इस संबोधन से ‘नए भारत’ की आहट अब पूरे विश्व को सुनाई पड़ रही है।

गत पांच वर्षों में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के करिश्माई नेतृत्व में भारत ने एक लंबी यात्रा तय की है। कांग्रेसनीत यूपीए के भारी भ्रष्टाचार, लूट, कुशासन और पॉलिसी पैरेलिसिस का काला अध्याय समाप्त हो चुका है और सुशासन, विकास और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार का युग प्रारंभ हो चुका है। नए भारत की ऐसी कार्य–संस्कृति है जो परिणामकारक है, जो दायित्वयुक्त और पारदर्शी है। भारत के पास अब ऐसी सरकार है जो देशहित में कड़े से कड़े निर्णय लेती है और जब निर्णय लेती है तब उसका क्रियान्वयन भी होता है। सरकार गरीब से गरीब, वंचित एवं शोषित, युवा एवं महिला के कल्याण में दिन–रात समर्पित है। मोदी सरकार जिसने ग्रामीण क्षेत्र, किसानों एवं मजदूरों को अपनी प्राथमिकता में रखा है, अपने परिणामकारी एवं अभिनव योजनाओं से इन्हें भारी राहत पहुंचा कर इनसे सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त कर रही है। यह एक ऐसी सरकार है जो ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ से लेकर ‘ईज ऑफ लिविंग’ के मानदण्डों पर खरी उतर रही है और देश में सकारात्मक एवं दूरगामी परिवर्तन लाने को कृतसंकल्पित है। फलत: आज पूरा विश्व यह बात मानने लगा है कि भारत व्यापक परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है तथा एक महान देश के रूप में विश्व पटल पर उभर चुका है जिसे अपने दायित्वों एवं लक्ष्यों का पूर्ण रूप से भान है।

मोदी सरकार ने चाहे आम जन के जीवन स्तर को ऊपर उठाने की बात हो या चन्द्रमा से लेकर मंगल तक जाने की योजना, अनगिनत उपलब्धियों का अंबार लगा दिया है। इससे उपलब्धियों के व्यापक होते दायरे का आभास होता है जबकि एक सरकार राष्ट्र की गौरवमयी यात्रा में हर क्षेत्र में अपने दायित्वों के प्रति सजग है। आज जबकि गरीब से गरीब व्यक्ति को पक्का घर, मुफ्त गैस सिलेंडर, बिजली कनेक्शन, पांच लाख तक का स्वास्थ्य बीमा और अन्यान्य आवश्यक सुविधायें प्राप्त हो रही हैं, पूरा राष्ट्र आने वाले पांच वर्षों में पांच ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर कदम बढ़ा चुका है। मोदी सरकार की ‘स्पीड, स्केल, स्किल’ के साथ कार्य करने का परिणाम आधारभूत संरचना के लिए भारी–भरकम कार्य–योजना में देखा जा सकता है जिसके अंतर्गत आने वाले पांच वर्षों में 100 लाख करोड़ के निवेश का संकल्प है। हर दिन भारत नई ऊंचाइयों को छूने को तत्पर है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व में नित नया इतिहास रचा जा रहा है।

एक आत्मविश्वास से परिपूर्ण दृढ़ इच्छाशक्ति वाली सरकार कैसे–कैसे परिवर्तन ला सकती है, इसका पूरा विश्व आज साक्षात्कार कर रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की दृढ़ राजनैतिक इच्छाशक्ति, सरकार के हर निर्णय में स्पष्ट दिखती है। देश की जनता का भारी विश्वास अर्जित कर श्री नरेन्द्र मोदी देश को एक मजबूत सरकार दे रहे हैं जिससे हर क्षेत्र में हो रहे कायाकल्प को स्पष्ट देखा जा सकता है। पिछले चुनावों में निरंतर मिले व्यापक जन–समर्थन का परिणाम है कि आज मोदी सरकार कई ऐतिहासिक निर्णय लेकर राष्ट्रीय एकता–अखंडता, विकास एवं सुशासन की नई गाथा लिख रही है। पिछली बार से भी बड़ा जनादेश प्राप्त कर सरकार बनाने के बाद मोदी सरकार ने केवल 70 दिनों में ऐसे ऐतिहासिक निर्णय लिये हैं, जिसकी पिछले 70 सालों में कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। कई दशकों में सर्वाधिक सफल संसदीय सत्र के साथ–साथ आतंकवाद, तीन तलाक, धारा 370 एवं 35ए की समाप्ति एवं जम्मू–कश्मीर का पुनर्गठन इतिहास के पन्नों में स्वर्णाक्षरों के साथ लिखा जाएगा। आज जब श्री नरेन्द्र मोदी के रूप में एक करिश्माई, दूरदर्शी एवं सक्षम नेतृत्व के प्रति पूरा देश आश्वस्त है, भारत एक नए युग में प्रवेश कर चुका है जब संपूर्ण राष्ट्र व्यापक जनभागीदारी के माध्यम से स्वयं अपनी विकास गाथा लिख रहा है और मां भारती की सेवा में समर्पित हो राष्ट्रीय पुनर्निर्माण के प्रति कृतसंकल्पित है।
                                                     shivshakti@kamalsandesh.org