‘सौभाग्य’ योजना का शुभारंभ

प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना ‘सौभाग्य’ नामक नई योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 25 सितंबर को किया गया। इसका उद्देश्य अंतिम छोर तक कनेक्टिविटी सुनिश्चत करते हुए सभी घरों में बिजली पहुंचाना और ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के सभी शेष गैर विद्युतिकृत घरों में बिजली कनेक्शन सुलभ कराना है, ताकि देश में सभी घरों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल किया जा सके।

इस परियोजना की कुल लागत 16,320 करोड़ रुपए है और इसमें 12,320 करोड़ रुपए का सकल बजट सहयोग (जीबीएस) प्रदान दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों के लिए योजना की कुल लागत 14,025 करोड़ रुपए है और इसके लिए 10,587.50 करोड़ रुपए का सकल बजट सहयोग प्रदान किया जाएगा। शहरी क्षेत्रों के लिए योजना की कुल लागत 2,295 करोड़ रुपए है और इसके लिए 1,732.50 करोड़ रुपए का सकल बजट सहयोग प्रदान किया जाएगा। केंद्र सरकार इस योजना के लिए राज्यों और संघ शासित प्रदेशों को बड़े स्तर पर वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

इस योजना के अंतर्गत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 31 दिसंबर, 2018 तक सभी घरों में बिजली पंहुचाने का कार्य पूर्ण करना होगा। योजना के अंतर्गत नि:शुल्क बिजली कनेक्शन के लिए लाभकर्ता का चयन वर्ष 2011 की सामाजिक आर्थिक और जाति जनसंख्या (एसईसीसी) द्वारा किया जाएगा। इसके साथ ही एसईसीसी आंकड़ें के तहत बिना बिजली वाले घरों में भी मात्र 500 रूपए के भुगतान द्वारा कनेक्शन प्रदान किए जाएंगे। यह राशि बिजली बिल की 10 किस्तो में वापिस की जाएगी।