मोदी सरकार और भाजपा आदिवासियों के कल्याण के लिए कटिबद्ध है: अमित शाह


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 31 मई को गुजरात के छोटा उदयपुर के देवलिया गांव में बूथ कमिटी मीटिंग और बोडेली गांव के श्री स्वामीनारायण मंदिर के प्रांगण में आदिवासी बंधुओं द्वारा आयोजित गोष्ठी को संबोधित किया और गुजरात में फिर से भारतीय जनता पार्टी की दो-तिहाई बहुमत की सरकार बनाने की अपील की। विदित हो कि राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह देश के सभी राज्यों में कुल 110 दिनों के अपने विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत एक दिवसीय दौरे पर गुजरात पर थे। ज्ञात हो कि चार लाख से अधिक कार्यकर्ता पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती कार्य विस्तारक योजना के तहत 15 दिन, 6 महीना और एक साल के लिए देश भर में पूर्णकालिक के रूप में बूथ-स्तर पर पार्टी की मजबूती के लिए काम करने को निकले हैं। अकेले गुजरात में लगभग 48 हजार कार्यकर्ता इस योजना के तहत बूथ-स्तर पर भाजपा को और मजबूत करने के लिए काम कर रहे हैं।

श्री शाह ने अपने गुजरात दौरे की शुरुआत छोटा उदयपुर के आदिवासी गांव देवलिया गांव की जहां उनका पारंपरिक तरीके से भव्य स्वागत किया गया। उन्होंने घर-घर जाकर जनसंपर्क किया, घरों के दरवाजों पर स्टीकर चिपकाए और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार की तीन साल की उपलब्धियों और गरीबों के कल्याण के लिए शुरू की गई योजनाओं पर बुकलेट भी बांटे। श्री शाह ने गांव के कई घरों में भी गए जहां आदिवासी महिलाओं ने उनकी आरती उतारी और स्वागत किया। अध्यक्ष जी ने मोबाइल से मिस्ड कॉल के जरिये कई आदिवासी लोगों को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता भी दिलाई। इसके बाद श्री शाह ने गांव में आयोजित बूथ कमिटी मीटिंग में भाग लिया और कार्यकर्ताओं के साथ बूथ-स्तर पर पार्टी की मजबूती के लिए चलाये जा रहे कार्यक्रमों की समीक्षा की। बूथ कमिटी मीटिंग में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने हर बूथ को भाजपा का मजबूत गढ़ बनाने की अपील की।

बूथ कमिटी मीटिंग में बोलते हुए श्री शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी गुजरात में तो मजबूत है ही, लेकिन यह हमारे लिए विश्राम का नहीं बल्कि और अधिक मेहनत करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती कार्य विस्तारक योजना से गुजरात में भारतीय जनता पार्टी को बहुत बड़ी ताकत मिलेगी और भाजपा फिर से सत्ता में आयेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार की तीन वर्ष की उपलब्धियों को लेकर घर-घर जाएं और हर बूथ को भाजपा का मजबूत गढ़ बनाने के लिए जुट जाएं। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब राज्य में भारतीय जनता पार्टी की 120 सीटें थी, अब तो वे देश के प्रधानमंत्री हैं, अब गुजरात में हमारी 150 सीटें आयेंगी।

बूथ कमिटी मीटिंग के पश्चात श्री शाह ने पार्टी कार्यकर्ता एवं देवलिया गांव के बूथ प्रमुख श्री पोपट भाई ईश्वर भाई राठवा जी के निवास पर दोपहर का भोजन किया। इसके बाद वे छोटा उदयपुर के आदिवासी क्षेत्र बोडेली गांव पहुंचे, जहां उन्होंने श्री स्वामीनारायण मंदिर के प्रांगण में आदिवासी बंधुओं के गोष्ठी कार्यक्रम ‘आदिवासी आगेवान मिलन समारोह’ को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में विभिन्न एनजीओ, साधु-संतों और आदिवासी समुदाय के लगभग 500 प्रतिनिधि शामिल हुए।

श्री शाह ने कहा कि जब कांग्रेस का शासन था, तब आदिवासी क्षेत्र में न तो बिजली थी, न पानी की व्यवस्था थी, न सड़कें थीं और न ही स्वास्थ्य की समुचित व्यवस्था थी। गुजरात को कांग्रेस राज्य में मिला तो केवल कर्फ्यू और हिंसा। उन्होंने कहा कि जब 2001 से गुजरात में श्री नरेन्द्र भाई मोदी की सरकार आई तो हर घर को 24 घंटे बिजली मिली, पाठशालाएं बनी, शालाओं में शिक्षकों की नियुक्ति हुई, समुचित स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध करवाई, यह मोदी जी के नेतृत्व वाली गुजरात की कहानी है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात को एक कर्फ्यू-मुक्त राज्य बनाने का काम किया है।
श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी आदिवासियों के कल्याण एवं विकास के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि गुजरात में अब तक मोदी जी के नेतृत्त्व में भाजपा सरकार ने 1 लाख 17 हजार 575 एकड़ जमीन आदिवासियों को सुपुर्द किया, जबकि कांग्रेस के समय गुजरात के आदिवासी किसी भी लाभ से वंचित थे। उन्होंने कहा कि PESA योजना के माध्यम से गुजरात सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि आदिवासी क्षेत्र में वन संपत्तियों की बिक्री से होने वाली आय को ग्राम पंचायत के माध्यम से आदिवासियों के ही विकास में काम आये।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आदिवासी समाज भारतीय समाज एवं संस्कृति का गहना है, जिसको संरक्षित करने की जरूरत है और गुजरात की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने इस दिशा में कई कार्य किये हैं। उन्होंने कहा कि राज पीपला में एक आदिवासी संग्रहालय बनवाया गया, आदिवासियों छात्रों के लिए 6 होस्टल बनवाये गए और 15 लाख आदिवासी छात्रों के लिए भोजन और यूनिफ़ॉर्म की व्यवस्था की गई। आदिवासियों के कल्याण के लिए 485 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी गई और लगभग 10 हजार करोड़ रुपये की राशि वाली ग्राम सड़क योजना में से लगभग 4800 करोड़ रुपये की राशि आदिवासी क्षेत्र में ग्राम सड़क योजना के लिए आवंटित किये गए। उन्होंने कहा कि 2004 में श्री नरेन्द्र भाई मोदी ने जनसंख्या के आधार पर आदिवासियों के लिए योजनायें बनाने और सुविधाएं देने की पहल शुरू की जो अब भी जारी है। उन्होंने कहा कि इसके अंतर्गत दाहोद और तापी में एक-एक मेडिकल कॉलेज बनवाया गया।

बुिद्धिजीवी वर्ग सम्मेलन, अकोटा (वड़ोदरा)

‘कांग्रेस को केवल अपनी अगली पीढ़ी की चिंता है, जबकि प्रधानमंत्री मोदीजी को देश की अगली पीढ़ी की चिंता है’

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने देश के सभी राज्यों के 110 दिवसीय विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत अपने एक दिवसीय गुजरात प्रवास में 31 मई को अकोटा (वड़ोदरा) के सर सयाजीराव नगर गृह में बुद्धिजीवियों के साथ कई विषयों पर चर्चा की और उनसे भारतीय जनता पार्टी के साथ मन से जुड़ने की अपील की।

श्री अमित शाह ने कहा कि 10 सदस्यों के साथ शुरू हुई भारतीय जनता पार्टी आज 11 करोड़ सदस्यों की संख्या के साथ दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है। उन्होंने कहा कि एक ज़माना था जब किसी म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन में भी जन संघ को जीत मिलती थी तो वह अखबारों की सुर्खियां बनती थी। आज देश के विभिन्न राज्यों में हमारे 1387 विधायक हैं और 13 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें हैं, साथ ही 4 राज्यों में भाजपा एवं सहयोगी दलों की सरकारें हैं। उन्होंने कहा कि कभी देश की संसद के अंदर हमारे केवल दो सदस्य हुआ करते थे, आज संसद में हमारे लगभग सवा तीन सौ सांसद हैं और पूर्ण बहुमत के साथ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार देश का मान-सम्मान बढ़ाने का काम कर रही है।

पार्टी के सिद्धांत पर विस्तार से चर्चा करते हुए श्री शाह ने कहा कि देश में सिद्धांतों के आधार पर चलने वाली पार्टियों का अकाल पड़ गया है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर मैं दो प्रमुख पार्टियों भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी की चर्चा करना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि पार्टी के सिद्धांत से मतलब है देश के लिए बनने वाली सभी नीतियों पर पार्टी के पास स्पष्ट दृष्टिकोण का उपलब्ध होना और उस दृष्टिकोण के आधार पर देश के लोकतांत्रिक प्रणाली के माध्यम से अपना पक्ष रखना। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी हो या वामपंथी दल या फिर क्षेत्रीय पार्टियां – उनका कोई सिद्धांत ही नहीं है। उनके पास देश के लिए कोई आइडियोलॉजी ही नहीं है, कोई विचारधारा ही नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का गठन तो देश की आजादी को प्राप्त करने के लिए किया गया था, वह तो आजादी को प्राप्त करने के लिए एक स्पेशल पर्पस व्हेकिल भर थी, उसकी कोई विचारधारा ही नहीं थी, वह कभी सिद्धांतों के आधार पर चली ही नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में कई विचारधाराओं वाले लोग थे और उन सब के पास कोई सिद्धांत नहीं था, केवल किसी भी तरह से सत्ता प्राप्त करना ही उनका उद्देश्य था, इसलिए बाद में इससे कई पार्टियां अलग-अलग समय पर बाहर निकलती चली गई।
amit-shah-bhojan
श्री शाह ने कहा कि आजादी के बाद देश में 70 सालों तक जो सरकारें चली हैं उसमें से एक तो कांग्रेस की सरकार है जो लंबे समय तक केंद्र और राज्यों में रही हैं। कई राज्यों में कम्युनिस्ट पार्टियों की सरकारें भी रही हैं, कुछ समय तक केंद्र में और कई राज्यों में प्रादेशिक दलों की सरकारों ने भी शासन किया है और भारतीय जनता पार्टी की सरकार भी देश में केंद्र और राज्यों में चली हैं। उन्होंने कहा कि देश ने चारों प्रकार की सरकार देखी है – कांग्रेस की विचारधारा, कम्युनिस्ट की विचारधारा, परिवारवाद व जातिवाद की विचारधारा और भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा के आधार पर चलने वाली सरकारें देखी है। प्रबुद्ध जनों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि अब देश में तुलनात्मक अभियान करने का समय आ गया है। चारों प्रकार के विकास के मॉडल देश की जनता के सामने है, उनके विकास के आंकड़े जनता के सामने उपलब्ध हैं – यह देखना चाहिए कि कांग्रेस की सरकारों में क्या विकास हुआ है, कम्युनिस्ट की राज्य सरकारों में कैसा विकास हुआ है, परिवारवाद व जातिवाद के आधार पर चलने वाली क्षेत्रीय पार्टियों की सरकारों के राज्य में कैसा विकास हुआ है और भारतीय जनता पार्टी की सरकारों में कैसा विकास हुआ है। उन्होंने कई राज्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि किस तरह कांग्रेस सरकारों, कम्युनिस्ट दलों की सरकारों और क्षेत्रीय दलों की सरकारों ने राज्य के विकास को बाधित कर उसे काफी पीछे धकेल दिया। उन्होंने कहा कि जिन-जिन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें रहीं। वहां हमने विकास के नए मापदंड स्थापित किये और उस राज्य के इतिहास में डेवलपमेंट की नया अध्याय जोड़ा गया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने देश में पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस के एक नए युग की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनती है, वह सरकार लोकाभिमुख सरकार होती है, पारदर्शी सरकार होती है, निर्णायक सरकार होती है और लोक-कल्याण के लिए काम करने वाली सरकार होती है।

श्री शाह ने कहा कि 2012 के समय को याद कीजिये, जब देश में कांग्रेस-नीत यूपीए का शासन था, देश के युवाओं में गुस्सा और आक्रोश था, महिलायें अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रही थी, आये दिन हमारी सीमाओं का अतिक्रमण होता रहता था। सेनाओं का अपमान होता था, हमारे प्रधानमंत्री विदेशी दौरों पर देश का पक्ष रखने जब जाते थे तो कहीं चर्चा भी नहीं होती थी, देश की अर्थव्यवस्था की हालत खस्ता थी, अर्थव्यवस्था के सारे मापदंड नीचे चले थे, नीतिगत फैसले नहीं हो रहे थे। उन्होंने कहा कि इस परिस्थिति में देश की जनता ने देश के बेहतर भविष्य के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में अपनी आस्था व्यक्ति करते हुए उनके हाथों में देश की बागडोर सौंपने का काम किया। उन्होंने कहा कि 2014-2017 के इस सफ़र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश ने विकास की नई कहानी लिखी है। भारत दुनिया की सबसे तेज गति से विकास करने वाली अर्थव्यवस्था बनी है, कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था की विकास दर को अटल जी के समय 8.4 से 4.4% पर लाकर छोड़ा, हम फिर से इन तीन सालों में विकास दर को 7.6% तक लाने में सफल हुए हैं और यह लगातार आगे की ओर बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के जरिये आज हिन्दुस्तान ने दुनिया भर में यह संदेश दिया है कि अब हमारी सीमाओं की ओर कोई बुरी नजर से नहीं देख सकता। उन्होंने कहा कि इससे यह संदेश गया कि हम शांति तो चाहते हैं, लेकिन सीमाओं पर अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि चाहे देश की विदेश नीति की बात हो या रक्षा नीति की या फिर आर्थिक मोर्चे पर लड़ाई की बात हो, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी ने हर मोर्चे पर सफलता के नए कीर्तिमान स्थापित किये हैं। उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया भारत की ओर आशा भरी निगाहों से देख रही है, भारत से अच्छे रिश्ता बनाना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के विकास व गरीब-कल्याण के लिए लगभग 106 योजनाओं की शुरुआत की है और इनमें से एक भी योजना ऐसी नहीं है जो किसी एक वर्ग के लिए बनी हो। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं की प्लानिंग एक अद्भुत विकास के मॉडल पर किया गया है जो सर्वस्पर्शी और सर्व-समावेशी है।