कृषि विधेयक पर विपक्ष किसानों को कर रहा गुमराह : अरुण सिंह


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री श्री अरुण सिंह ने कहा कि कृषि विधेयक 2020 किसानों के लिए वरदान है। विपक्ष झूठ और भ्रम फैलाकर किसानों को गुमराह कर रहा है। गत 3 अक्टूबर को सहारनपुर स्थित सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री अरुण सिंह ने कहा कि कृषि विधेयक 2020 लाकर मोदी सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किया है। मोदी सरकार आत्मनिर्भर भारत और आत्मनिर्भर किसान बनाना चाहती है और देश में किसानों की दशा सुधारने के िलए संकल्पित है। विपक्ष इस मामले में लगातार किसानों को गुमराह कर रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि यह बिल किसानों को आत्मनिर्भरता की ओर ले जाएगा। किसान को अपनी फसल बेचने के कई विकल्प इस बिल के माध्यम से सरकार ने दिए हैं। अब वह अपनी फसल कहीं भी बेच सकता है और बिचौलिया की भूमिका महत्वपूर्ण नहीं रहेगी।

श्री सिंह ने विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि विपक्ष कह रहा है कि इस बिल से एमएसपी खत्म कर दी जाएगी जबकि इसके बाद सरकार ने एमएसपी में बढ़ोतरी की है। उन्होंने जोर देकर कहा कि एमएसपी थी, है और रहेगी, इसको कोई खत्म नहीं करने जा रहा। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियों द्वारा यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि सरकार चाहती है कि किसान अपनी भूमि को पूंजीपतियों को बेच दे, जबकि तथ्य यह है कि किसानों को इन विधेयकों में पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की गई है। किसानों की भूमि की बिक्री या गिरवी रखना पूर्णतः निषिद्ध है और किसानों की भूमि भी किसी भी तरह की रिकवरी से सुरक्षित है।
श्री सिंह ने कहा कि हम एक ऐसा विवाद निवारण तंत्र उपलब्ध कराएंगे, जहां किसी भी विवाद व समस्या उत्पन्न होने की स्थिति में किसान तुरंत अपने स्थानीय एसडीएम के पास जाकर अपनी समस्याओं का निवारण करा सकेगा।