प्रधानमंत्री द्वारा अहमदाबाद में विभिन्न विकास परियोजनाओं का शुभारंभ


                                                           अहमदाबाद मेट्रो सेवा के पहले चरण का उद्घाटन

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 4 मार्च को अहमदाबाद में कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया। अहमदाबाद के वस्त्रल गम मेट्रो स्टेशन में प्रधानमंत्री ने अहमदाबाद मेट्रो सेवा के पहले चरण का उद्घाटन किया। उन्होंने अहमदाबाद मेट्रो के दूसरे चरण का शिलान्यास किया। इस अवसर पर देश में विकसित भुगतान प्रणाली और स्वचालित किराया संग्रह प्रणाली का अनावरण हुआ। यह प्रणाली ‘एक राष्ट्र, एक कार्ड’ प्रारूप पर आधारित है। इसके बाद प्रधानमंत्री ने मेट्रो ट्रेन को झंडी दिखाई और मेट्रो ट्रेन में यात्रा भी की।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने अहमदाबाद में 1200 बिस्तरों वाले नए सिविल अस्पताल, नए कैंसर अस्पताल, दांतों का अस्पताल और नेत्र अस्पताल का उद्घाटन किया। उन्होंने दहोद रेलवे वर्कशॉप और पाटन-बिंदी रेल लाइन का भी अनावरण किया तथा लोथल मेरीटाइम म्यूजियम का शिलान्यास किया।

बीजे मेडिकल कॉलेज ग्राउंड में जन समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक दिन है, क्योंकि अहमदाबाद मेट्रो का सपना पूरा हुआ है। उन्होंने कहा कि मेट्रो अहमदाबाद के लोगों को एक आरामदायक और पर्यावरण अनुकूल यातायात की सुविधा देगा। 2014 से पहले देश में 250 किलोमीटर लाइन पर मेट्रो का परिचालन हो रहा था। आज यह बढ़कर 655 किलोमीटर हो गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हुए कॉमन मोबिलिटी कार्ड के अनावरण के पश्चात पूरे देश में यात्रा के विभिन्न प्रकार के कार्डों के उपयोग करने की जरूरत नही रह जाएगी। यह कार्ड यात्रा के लिए ‘एक राष्ट्र, एक कार्ड’ की उपयोगिता सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्ड को स्वदेश में ही विकसित किया गया है। ऐसे कार्डों के निर्माण के लिए विदेश पर निर्भरता खत्म हो गई है। भारत दुनिया के कुछ गिने-चुने देशों में शामिल हो गया है, जहां यात्रा के लिए ‘एक राष्ट्र एक कार्ड’ की सुविधा है।

गुरू गोबिंद सिंह अस्पताल का नया भवन राष्ट्र को समर्पित

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 4 मार्च को गुजरात के जामनगर में बांद्रा जामनगर हमसफर एक्सप्रेस को झंडी दिखाई। उन्होंने गुरू गोबिंद सिंह अस्पताल के नए 750 बेड एनेक्सी को राष्ट्र को समर्पित किया और विभिन्न एसएयूएनआई परियोजनाओं का अनावरण किया। उन्होंने आजी- 3 से खिजादिया तक 51 किलोमीटर पाइपलाइन सहित जामनगर में अन्य विकास परियोजनाओं को भी आरंभ किया।

एक विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने जल कमी की समस्या से निपटने में पिछले 2 दशको के दौरान गुजरात सरकार के संकल्प और कड़ी मेहनत की चर्चा की। इस संदर्भ में उन्होंने गुजरात में “टैंकर राज” को अनुमति न देने के उनके दृढ़ निश्चय और किस प्रकार सरदार सरोवर बांध ने गुजरात के लोगों को राहत दी है, का उल्लेख किया। उन्होंने नागरिकों से वर्तमान और भविष्य की पीढ़ी के लाभ के लिए जल के प्रत्येक बूंद के संरक्षण की अपील की।

गुजरात में स्वास्थ्य क्षेत्र में आई क्रांति का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान गुजरात में स्थापित अस्पतालों से गरीबों को काफी लाभ पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा आरंभ आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए किफायती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल सुनिश्चित करेगी।