सपा-बसपा-कांग्रेस का एक ही मंत्र… जात-पात जपना, जनता का माल अपना : नरेन्द्र मोदी


कन्नौज (उत्तर प्रदेश)

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सपा-बसपा और कांग्रेस को महामिलावटी करार देते हुए 27 अप्रैल को आरोप लगाया कि इन पार्टियों का एक ही मंत्र है…जात-पात जपना, जनता का माल अपना। श्री मोदी ने कहा कि ये यही धंधा करते हैं इसलिए उन्हें दिल्ली में एक ऐसी सरकार चाहिए जो मजबूर है, ताकि वो मनमर्जी कर सकें और लूट कर सकें…जैसे 2014 से पहले ये करते थे।

उन्होंने कहा कि इतनी संख्या में आपके यहां आने से एक बार फिर से निश्चित हो गया है कि 2014 का रिकॉर्ड इस बार टूट जाएगा। श्री मोदी ने सपा-बसपा और कांग्रेस पर आरोप लगाया, इन महामिलावटी लोगों ने चौकीदार को गाली दी, राम भक्तों को गाली दी लेकिन परिणाम ये हुआ है ये सभी लोग खत्म हो गये।

उन्होंने कहा कि आज मोदी का प्रचार वो बहन कर रही है, जिसने पूरी जिंदगी चूल्हे के धुएं में निकाल दी थी और उसे उज्ज्वला योजना से गैस कनेक्शन मिला। प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी का प्रचार वो बेटी कर रही है, जिसके घर शौचालय बना और उसे इज्जत घर मिल गया।

उन्होंने कहा कि आज मोदी का प्रचार वो किसान कर रहे हैं, जिन्हें पीएम किसान सम्मान निधि योजना से मदद राशि मिली। आज मोदी का प्रचार वो परिवार कर रहा है जिसके बेटे मातृभूमि की रक्षा में हैं, जिन्हें बुलेट प्रूफ जैकेट और हथियार मोदी ने दिये हैं।

श्री मोदी ने जनसमूह से सवाल किया, आतंकवाद से देश की रक्षा होनी चाहिए कि नहीं…सपा-बसपा वाले एक बार भी आतंकवाद पर बोले क्या…मोदी को इतनी गाली दी, लेकिन आतंकवाद को एक भी गाली दी क्या ? क्या सपा-बसपा वाले आतंकवादियों से डरते हैं या उनको बचाने के लिए चुप बैठे हैं?
श्री मोदी ने पूछा, आज जितने लोग खुद को भावी प्रधानमंत्री बता रहे हैं, इन्होंने देश को मजबूत बनाने की, जवानों की रक्षा की कोई योजना सामने रखी है क्या? उन्होंने कहा कि जो मोदी को हराने के लिए पाकिस्तान के झूठ को सच मानते हों, पाकिस्तान का हीरो बनना चाहते हों, उनसे क्या उम्मीद की जा सकती है।

श्री मोदी ने आरोप लगाया कि बसपा ने बाबा साहेब के नाम पर मेडिकल कॉलेज का नाम रखा था, लेकिन सपा सरकार आई तो उनके नाम की पट्टी को उखाड़ के फेंक दिया। आज वही मायावती सपा के लिए वोट मांग रही हैं। जिन्होंने बाबा साहेब का अपमान किया, उन्हें गले लगा रही हैं। सत्ता के लिए सब भुला दिया।

उन्होंने कहा कि नया हिंदुस्तान अब डरेगा नहीं। नया हिंदुस्तान आतंकियों के घर में घुसकर मारेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब देश सुरक्षित होगा, तभी सामान्य मानव का जीवन सही से चलेगा। आपके इस चौकीदार की नीयत और नीति बिल्कुल साफ है। उन्होंने कहा कि हम किसानों को हर वो सुविधा देना चाहते हैं, जिससे उनकी आय दोगुनी हो सके।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसा, हमारे देश में ऐसे बुद्धिमान और तेजस्वी लोग हैं जो आलू से सोना बनाते हैं। वो काम हम नहीं कर सकते, ना मेरी पार्टी कर सकती है…जिसको आलू से सोना बनाना है, वो उनके पास जाये, हम ऐसा नहीं कर सकते।

मुजफ्फरपुर (बिहार)

‘भ्रष्टाचार छिपाने, अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिये केंद्र में कमजोर सरकार चाहता है विपक्ष’

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों पर अपना स्वार्थ सिद्ध करने तथा भ्रष्टाचार छिपाने के लिये केंद्र में कमजोर सरकार बनाने का प्रयास करने का आरोप लगाया और साथ ही आगाह किया कि बिहार में विपक्षी महागठबंधन की ताकत बढ़ाने का मतलब है लूट-पाट, अपहरण और भ्रष्टाचार के दिन वापस लाना।

उन्होंने कहा कि 2014 में जनता ने कांग्रेस को इतनी सीटें भी नहीं दी थीं कि कोई नेता विपक्ष बन पाए। जिनके नसीब में नेता विपक्ष का पद ही नहीं है वो प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं।

मुजफ्फरपुर में पताही हवाई अड्डा मैदान में 30 अप्रैल को चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव के 4 चरणों का मतदान होने के बाद कुछ लोग चारों खाने चित्त हो चुके हैं। अब अगले चरणों में ये तय होना है कि इनकी हार कितनी बड़ी होगी और भाजपा राजग की जीत कितनी भव्य होगी।

उन्होंने कहा कि हमने देश को लाल बत्ती की संस्कृति से बाहर निकाला है और गांव-गांव को एलईडी बल्ब की दूधिया बत्ती से रोशन कर दिया है। हम सबकी लाल बत्ती चली गई, लेकिन गरीब का घर बिजली से रोशन हो गया है।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में सौभाग्य योजना, उज्ज्वला योजना, हर घर को शौचालय योजना, गरीबों के उपचार के लिये आयुष्मान योजना, किसानों को प्रधानमंत्री सम्मान निधि जैसी योजनाओं का जिक्र किया और आने वाले समय में मजबूत सरकार के लिये आशीर्वाद मांगा।

उन्होंने कहा कि जिन्होंने बिहार की पहचान बदली थी, वह इस चुनाव में केंद्र में अपनी सरकार बनाने के लिए नहीं लड़ रहे, बल्कि किसी भी तरह से अपनी सदस्य संख्या बढ़ाने के लिए छटपटा रहे हैं।

श्री मोदी ने कहा कि इसीलिये मैं सावधान कर रहा हूं कि उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बिहार में लूट-पाट, अपहरण और भ्रष्टाचार के दिन वापस लाना।

विपक्षी महागठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि फिर से ये लोग बिहार में गिद्ध दृष्टि जमाए हैं। ये बिहार को जाति, समाज के आधार पर बांटकर अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं। श्री मोदी ने कहा कि ये लोग (विपक्ष) अपने भ्रष्टाचार, काले कारनामों को छिपाना चाहते हैं। उनका लक्ष्य है कि दिल्ली में कमजोर सरकार बने, ताकि ये फिर से मनमानी कर सकें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये चाहे कितनी भी कोशिश कर लें, कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ जो अभियान हमने चलाया है, उसकी रफ्तार धीमी नहीं पड़ेगी।

विपक्षी नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जो जेल में हैं या जेल के दरवाजे पर हैं। जो बेल पर हैं या बेल के लिए कोर्ट कचहरी के चक्कर काट रहे हैं। वो सब केंद्र में एक मजबूत सरकार को एक मिनट भी बर्दाश्त नहीं करना चाहते।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि इनको गरीबों का लूटा हुआ एक-एक पैसा लौटाना ही पड़ेगा। जैसे हम मिशेल मामा को उठाकर लाएं हैं, उसी तरह इनके बाकी चाचाओं को भी भारत आना ही पड़ेगा।

लोहरदगा (झारखण्ड)

‘हार सुनिश्चित देखकर विपक्ष ईवीएम पर ठीकरा फोड़ने की तैयारी में’

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस और विपक्षी दलों को करारा जवाब देते हुए 24 अप्रैल को कहा कि देश में तीसरे दौर के मतदान के बाद अपनी हार सुनिश्चित देख कर अब समूचा विपक्ष ईवीएम पर ठीकरा फोड़ने की तैयारी कर रहा है। प्रधानमंत्री ने लोहरदगा लोकसभा क्षेत्र में केन्द्रीय आदिवासी कल्याण राज्य मंत्री श्री सुदर्शन भगत के पक्ष में आयोजित चुनाव सभा में यह आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि मतदान का तीसरा दौर आते आते जब विपक्ष को यह साफ हो गया कि उनकी हार सुनिश्चित है तो वह बहाने ढूंढ़ने में लग गये और इसके लिए सभी विपक्षी दलों ने ईवीएम पर ठीकरा फोड़ने की तैयारी शुरू कर दी है।

श्री मोदी ने कहा कि जनता जब चौकीदार पर इतना प्यार बरसायेगी तो बेचारी ईवीएम को तो भुगतना ही पड़ेगा। गालियां बेचारी ईवीएम को सुननी पड़ रही है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘जो लोग प्रधानमंत्री बनने का सपना देखते थे वह आज अपने लोकसभा क्षेत्र की विधानसभाएं तक नहीं जीत पाते हैं।’

श्री मोदी ने एक बार फिर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की अपील करते हुए कहा कि बहुमत की सरकार के चलते ही पिछले पांच वर्षों में देश में नक्सलवाद और आतंकवाद पर नियंत्रण किया जा सका है। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित इलाकों में बड़ी संख्या में लोग मुख्य धारा में वापस आये हैं जबकि कांग्रेस के समय में हिंसा और आतंकवाद आम बात हुआ करती थी।