देश को नरेन्द्र मोदी जैसा ही पीएम चाहिए जो सबका विकास करे : अमित शाह


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 24 मार्च 2019 को आगरा में विजय संकल्प रैली में विपक्ष पर कड़े प्रहार किए। श्री शाह ने विपक्षी नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता सिर्फ इसलिए वोट नहीं दे सकती कि किसी की प्रधानमंत्री बनने की हसरत में उम्र निकली जा रही है या किसी को पीएम बनने का शौक चढ़ा है। भाजपा अध्यक्ष ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि एक ओर देश का विकास करने वाले नरेंद्र मोदी हैं, जिनकी सरकार पर 5 साल में भ्रष्टाचार का कोई आरोप तक नहीं लगा तो दूसरी तरफ महागठबंधन और महामिलावट है, जो जाति-धर्म वाली सरकार
चाहते हैं।

सभा को संबोधित करते हुए श्री अमित शाह ने कहा, ‘हमें देश की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री को चुनना है, हमें ऐसा प्रधानमंत्री चुनना है जो पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे सके ना कि सिर्फ इसलिए कि किसी की उम्र निकली जा रही है या किसी को पीएम बनने का शौक चढ़ा है। एक ओर मोदीजी हैं तो दूसरी ओर महागठबंधन और महामिलावट है। इनसे कोई पूछे कि अगर आप जीते तो पीएम कौन बनेगा। इनके पास इस सवाल का जवाब नहीं होगा।’

श्री शाह ने कहा, ‘मायावती जी कहती हैं कि मोदीजी को हटाया जाए, मगर पूछो चुनाव कहां से लड़ेंगी तो कहेंगी कि मैं चुनाव नहीं लड़ूंगी। शरद पवार, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, स्टालिन, चंद्रबाबू नायडू सब कह रहे हैं कि मोदीजी को हटाना है, मगर पूछो आप चुनाव कहां से लड़ोगे तो ये सब कह रहे हैं कि हम चुनाव नहीं लड़ेंगे। बीते 70 सालों में कांग्रेस और उनके चट्टे-बट्टों ने शासन किया, लोगों को अहसास ही नहीं था कि देश आजाद भी है।’

उन्होंने कहा, ‘बिना किसी की जाति-धर्म पूछे 6 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन देने का काम भाजपा सरकार ने किया है। मोदीजी ने बिना किसी की जात-पात पूछे 13 करोड़ किसानों के खाते में 6 हजार रुपये देने का फैसला किया।’ उन्होंने लोगों से पूछा कि आप जाति-धर्म करने वाली सरकार चाहते हैं या देश का विकास करने वाली सरकार चाहिए। श्री शाह ने कहा कि पिछले 5 सालों में मोदी सरकार और 2 साल की योगी सरकार के दौरान भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा।

श्री शाह ने कहा, ‘यूपीए सरकार के दौरान पाकिस्तान हमारे सैनिकों को ले जाता था और सिर काटकर भेजता था, लेकिन ‘मौनी बाबा’ वाली सरकार के माथे पर जूं नहीं रेंगी। मोदीजी की सरकार के दौरान उन्होंने उरी पर हमला किया, उन्हें लगा कि फिर ‘मौनी बाबा’ जैसी सरकार होगी। मगर मोदीजी ने सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है।’

श्री शाह ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सेना से एयर स्ट्राइक के सबूत मांगते हैं। उनके इन सवालों पर पाकिस्तान की संसद में तालियां बजती हैं। उन्होंने कहा कि यह चुनाव गरीबों के विकास, देश की सुरक्षा और विश्व की मजबूत अर्थव्यवस्था बनाने जैसे मुद्दों पर लड़ना चाहिए ना कि किसी का प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब पूरा करने के लिए।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी ने विकास का माध्यम जाति, धर्म, क्षेत्र या संप्रदाय नहीं बल्कि गांव, देहात, गरीब महिला सभी को बनाया है। ढाई करोड़ से ज्यादा परिवारों को शौचालय, 1 करोड़ परिवारों को बिजली कनेक्शन दिया। अगर आपको हमारी सफलता का पैमाना देखना है तो प्रयागराज में हुए भव्य कुंभ को देख लीजिए। यह नमामि गंगे की सफलता ही थी कि गंगा अविरल भी थी, निर्मल भी थी। आजादी के बाद से क्यों कभी किसी प्रधानमंत्री ने अक्षयवट को खोलने की हिम्मत नहीं दिखाई? वे लोग डरते थे, मगर मोदीजी ने यह काम करके दिखाया।’