यह बजट मोदीजी के ‘न्यू इंडिया’ की परिकल्पना को स्थापित और गतिशील करता है : जगत प्रकाश नड्डा


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने 5 जुलाई को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा संसद में पेश किये गए बजट की सराहना करते हुए कहा कि ‘बजट 2019’ देश के समग्र विकास एवं हर वर्ग के कल्याण के प्रति समर्पित बजट है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार द्वारा देश के गरीब, किसान और युवाओं के सपनों एवं आकांक्षाओं को समर्पित इस सर्वस्पर्शी और सर्व-समावेशी बजट के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह, वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण एवं उनकी पूरी टीम को हार्दिक बधाई देता हूं।

श्री नड्डा ने कहा कि ‘बजट 2019’ समाज के सभी वर्गों के कल्याण को समाहित करता हुआ एक सर्वांगीण बजट है जो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ की परिकल्पना को स्थापित और गतिशील करता है। यह ‘सबका साथ, सबका विकास एवं सबका विश्वास’ के मंत्र को और परिलक्षित करने वाला बजट है। उन्होंने कहा कि यह देश के गांव, गरीब, किसान, दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित, युवा एवं कल्याण के प्रति समर्पित बजट है।

कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि बजट 2019 मोदी सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों से जारी आर्थिक सुधारों, रोजगार सृजन के नए आयामों, बुनियादी ढाँचे में सुधार और सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में लंबी छलांग लगाने का संकल्प लेने वाला बजट है। यह बजट 2022 तक पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का रोडमैप है जो भारत को अर्थतंत्र की महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर करता है।

श्री नड्डा ने कहा कि पांच लाख रुपये तक की वार्षिक आय को पूर्ण रूप से कर मुक्त करके प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के मध्यम वर्ग को एक बड़ी राहत दी है। मोदी सरकार द्वारा मध्यम वर्ग के हित में किये जा रहे विभिन्न अप्रत्यक्ष और प्रत्यक्ष प्रयासों की कड़ी में यह एक बड़ा निर्णय है। उन्होंने कहा कि 1.5 करोड़ रुपये से कम के टर्नओवर वाले दुकानदारों को “प्रधानमंत्री कर्म योगी मान धन” स्कीम के तहत पेंशन दिए जाने का निर्णय एक सराहनीय कदम है।

कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि 2022 तक 1.95 करोड़ मकानों का निर्माण किया जाएगा जो टॉयलेट, शुद्ध पेय जल, गैस कनेक्शन और बिजली से युक्त होगा। यह गांवों के विकास के लिए उठाये गए ऐतिहासिक और क्रांतिकारी कदम हैं जिसके बारे में आज तक इतने व्यापक परिप्रेक्ष्य के बारे में किसी ने सोचा तक नहीं था। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 1.25 लाख किमी सड़कों निर्माण होगा। इस पर 80250 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

श्री नड्डा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के विस्तार के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। 2 अक्टूबर 2019 तक भारत खुले में शौच से मुक्त वाला देश बन जाएगा। यही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी सपना है और हम समग्र भारतवासी इसे साकार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि दो अक्टूबर को राजघाट पर राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का उद्घाटन सच्चे अर्थों में बापू को हमारी विनम्र श्रद्धांजलि होगी। स्वच्छता अभियान के तहत हर गांव में कचरा प्रबंधन की व्यवस्था अपने आप में एक क्रांतिकारी कदम है।
कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि देश में क्रेडिट ग्रोथ 13.8% फीसदी से ऊपर तक गई है।

क्रेडिट को बढ़ावा देने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को 70 हजार करोड़ रुपये मुहैया कराए जाने का निर्णय लिया गया है। बैंकिंग सुधार का इससे बड़ा कदम पहले कभी नहीं उठाया गया। यह मोदी सरकार की सफल नीतियों का ही परिणाम है कि पिछले 4 साल के दौरान 4 लाख करोड़ NPA की रिकवरी हुई है।

श्री नड्डा ने कहा कि इस बार के बजट में शिक्षा व्यवस्था को बदलने के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाने की भी बात कही गई है जो एक प्रशंसनीय कदम है। 400 करोड़ रुपए से विश्व स्तरीय संस्थान बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सरकार ‘स्टडी इन इंडिया’ योजना लॉन्च करने जा रही है। इसके तहत विदेशी छात्रों को भारत में उच्च शिक्षा दी जाएगी। इससे हमारे युवा विश्वस्तरीय स्पर्द्धा के लिए तैयार हो सकेंगे।

मध्यम वर्ग के कल्याण के लिए मोदी सरकार द्वारा इस बजट में उठाये गए क़दमों का जिक्र करते हुए कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि यह फैसला कि अब 45 लाख रुपये का घर खरीदने पर अतिरिक्त 1.5 लाख रुपये की छूट दी जाएगी और 45 लाख रुपए तक के होम लोन के ब्याज पर आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर 3.5 लाख रुपए कर दी जायेगी, मध्यम वर्ग के लिए बहुत बड़ी राहत है जो अपने घर का सपना देखते हैं।