यह जनता और माननीय प्रधानमंत्री मोदीजी की जीत है : जी. किशन रेड्डी


सिकंदराबाद (हैदराबाद) निर्वाचन क्षेत्र से नवनिर्वाचित सांसद श्री किशन रेड्डी भाजपा के ऊर्जावान युवा नेतृत्व का प्रतिनिधित्व करते हैं। एक युवा नेता के रूप में अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत करते हुए उन्होंने 2002 से 2005 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यभार संभाला। वे 2004 में हिमायतनगर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक के रूप में चुने गए और 2009 और 2014 में फिर से तेलंगाना के अंबरपेट विधानसभा सीट से चुनकर आए। उन्हें श्री बंडारू दत्तात्रेय के उत्तराधिकारी के रूप में तेलंगाना भाजपा अध्यक्ष के रूप में चुना गया। इस अवधि के दौरान उन्होंने राज्य विधानसभा में भाजपा के सदन के नेता जैसी जिम्मेदारी का सफलतापूर्वक निर्वहन किया। सिकंदराबाद से अपनी जीत सुनिश्चित करने के साथ ही श्री रेड्डी ने न केवल पार्टी के पारंपरिक गढ़ को बरकरार रखा है, बल्कि तेलंगाना राज्य में बीजेपी का सफलतापूर्वक विस्तार भी किया है।

कमल संदेश के एसोसिएट एडिटर राम प्रसाद त्रिपाठी के साथ एक विशेष साक्षात्कार में श्री रेड्डी ने तेलंगाना में भाजपा की भारी जीत और राज्य के अगले विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी की रणनीति पर अपने विचार रखे।

उन्होंने इस बात का खुलासा भी किया कि कैसे पार्टी ने संगठन को राज्य में जमीनी स्तर तक पहुंचाया और साल 2023 तक कैसे टीआरएस की परिवारवादी राजनीति और तानाशाही सरकार को ध्वस्त कर भाजपा सत्ता में आएगी। प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश : 

महोदय, इस बार सिकंदराबाद सीट से संसद सदस्य चुने जाने पर बहुत-बहुत बधाई। पिछले वर्ष हुए विधानसभा चुनावों में 118 सीटों पर चुनाव लड़ने और केवल एक सीट पर विजय पाने के बाद मौजूदा लोकसभा चुनावों में चार सीटों पर कब्जा कर सत्तारूढ़ टीआरएस को उसके गढ़ में चुनौती देने का यह शानदार सफर कैसा रहा? भाजपा की इस शानदार जीत पर आप क्या कहना चाहते हैं?

आपकी शुभकामनाओं के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। इस अवसर पर मैं सिकंदराबाद के उन सभी लोगों को भी धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने मुझे अपने सांसद के तौर पर चुना है। मेरी इस जीत में पार्टी के बुजुर्गों और निस्वार्थ भाव से काम करने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका रही है, जिनके प्रयासों से यह जीत संभव हुई है।

हां, आपने ठीक कहा पिछले साल दिसंबर में हुए विधानसभा चुनावों में केवल एक सीट जीतने से लेकर लोकसभा की चार सीटों पर विजय पताका लहराने का यह सफर शानदार रहा। सत्ताधारी टीआरएस के गढ़ों को रौंदते हुए हमनें केवल चार महीने में यह सफलता हासिल की है। यह वास्तव में भाजपा का शानदार प्रदर्शन है। ऐसे ही, मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की बेटी के.कविता के खिलाफ निज़ामाबाद से पहली बार चुनाव लड़ रहे श्री डी. अरविंद की जीत कई मायने में खास हो जाती है, जो इस विशाल जीत का एक सुनहरा अध्याय है। इसके अलावा, हमने तेलंगाना में दो सीटों आदिलाबाद और करीमनगर पर भी शानदार जीत हासिल की है।

जहां तक इस उपलब्धि के पीछे के मुख्य कारणों का सवाल है, मेरा मानना है कि इस जीत को हासिल करने में हर किसी ने कड़ी मेहनत की है, लेकिन इस बेहतरीन प्रदर्शन के पीछे खुद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हैं, जिनकी सरकार ने केंद्र में पिछले पांच वर्षों में कई उल्लेखनीय काम किए है। इसलिए 2019 की चुनाव प्रक्रिया की शुरुआत से ही मतदाताओं ने मोदीजी को वोट देने और केंद्र में भाजपा की सरकार बनाने का मन बना लिया था।

भाजपा ने तेलंगाना में किन प्रमुख मुद्दों पर चुनाव लड़ा?

यह पूरा लोकसभा चुनाव मुख्य रूप से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार की विकास और कल्याणकारी योजनाओं के ईद—गिर्द घूमता रहा। श्री नरेन्द्र मोदी का त्रुटिहीन शासन, भ्रष्टाचार मुक्त सरकार, राष्ट्र के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, काम के प्रति उनका समर्पण, ‘न्यू इंडिया’ के लिए उनकी दूरदृष्टि और उनके सुशासन ने हर भारतीय का दिल जीत लिया।

इसके अलावा, विकास, राष्ट्रीय सुरक्षा, सुशासन, भ्रष्टाचार मुक्त सरकार, देश को राष्ट्र विरोधी मानसिकता वाले दलों के चंगुल से सुरक्षित रखना आदि इस चुनाव के कुछ अन्य प्रमुख मुद्दे हैं।
मोदी सरकार की लोकप्रिय योजनाएं जैसे देश के अंतिम गांव तक बिजली पहुंचाना, उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना, स्वच्छता मिशन, जन धन योजना के तहत सीधे पैसा ट्रांसफर के लिए बैंक खाते, आयुष्मान भारत के तहत गरीबों को सर्वोत्तम स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं प्रदान करना, 2022 तक सभी के लिए आवास उपलब्ध कराना, देश के हर कोने को सड़क नेटवर्क से जोड़ना, रक्षा क्षेत्र को मजबूत करना, एक मजबूत अर्थव्यवस्था, जिसने नागरिकों के लिए ‘ईज ऑफ लिविंग’ को सक्षम बनाया है और भारत को विश्व समुदाय में एक प्रमुख शक्ति के रूप में स्थापित करना इस पूरे चुनाव की कुछ प्रमुख बातें रही।

हमने इन सकारात्मक बिंदुओं पर चुनाव लड़ा और लोकसभा चुनाव के दौरान इन सभी मुद्दों का बोलबाला रहा और हमें समाज के सभी वर्गों से अपेक्षित सहयोग मिला।

तेलंगाना में विस्तार के लिए भाजपा की भविष्य की रणनीति क्या होगी?

हमारा मुख्य लक्ष्य तेलंगाना में मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव के परिवारवाद और तानाशाही शासन को समाप्त करना है और राज्य में 2023 के विधानसभा चुनावों में भाजपा को सत्ता में लाना होगा।
यहां तक कि यह जनादेश भी सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ ही है और इससे सबक लेकर टीआरएस को जनता के लिए काम करना चाहिए। जैसाकि इन चुनावों के दौरान सीएम देशभर का दौरा कर अपने मोर्चे के लिए समर्थन मांग रहे थे और उन्हें यह भी पता नहीं चला कि उनके ही पैरों तले जमीन खिसक रही है।

विकास के मोर्चे पर के.चंद्रशेखर राव की अगुवाई वाली टीआरएस सरकार जानबूझकर केंद्र की मोदी सरकार द्वारा तेलंगाना के लोगों के कल्याण के लिए शुरू की गई योजनाओं को लागू नहीं कर रही है। इसलिए भाजपा के प्रतिनिधि प्राथमिकता के आधार पर राज्य के प्रत्येक गांव में इन कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने की पूरी कोशिश करेंगे और राज्य सरकार को तत्काल प्रभाव से तेलंगाना की प्रगति के लिए केंद्र सरकार की सभी प्रमुख विकास परियोजनाओं को निष्पादित करने के लिए बाध्य करेंगे।

सिकंदराबाद की जनता के लिए आपका क्या संदेश होगा?

मेरी यह जीत जनता और हमारे माननीय प्रधानमंत्री मोदीजी की जीत है। मुझे संसद सदस्य के रूप में चुना गया है, तो यह केवल मेरे क्षेत्र की जनता के प्रयासों से संभव हो सका है। इसलिए मैं इस जीत को अपने सभी मतदाताओं और सिकंदराबाद के लोगों को समर्पित करता हूं और उन्हें विश्वास दिलाता हूं कि मैं अपनी पूरी क्षमताओं के साथ क्षेत्र की जनता के लिए काम करूंगा। मैं उनका निरंतर समर्थन और आशीर्वाद चाहता हूं।