जिस तरह से ममता सरकार काम कर रही है वह भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था के विपरीत है : जगत प्रकाश नड्डा


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा अपने 120 दिनों के राष्ट्रव्यापी प्रवास के तहत दो दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरे के दूसरे और अंतिम  दिन कोलकाता के वेस्टिन होटल में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर तृणमूल कांग्रेस सरकार की अराजकतावादी नीतियों पर हमला करते हुए लोगों से ममता सरकार को उखाड़ फेंकने और भाजपा की सरकार बनाने का आह्वान किया.

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपने काफिले पर तृणमूल कार्यकर्ताओं और उनके गुंडों द्वारा किये गए वीभत्स हमले की निंदा करते हुए कहा कि आज जो घटना घटित हुई वह ममता जी की बौखलाहट की कहानी बयां करती है। ममता जी को दिख चुका है कि उनकी जमीन खिसक चुकी है। आज की घटना यह भी दिखाती है कि राज्य में कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है और अराजकता और असहिष्णुता कायम है। उन्होंने कहा कि इस मामले में किसी राजनीतिक बहस की जरूरत नहीं है। जिस तरह से ममता सरकार काम कर रही है वह भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था के विपरीत है और साफ तौर पर दिखाती है कि असहिष्णुता का दूसरा नाम ममता सरकार है। उन्होंने कहा कि आज हमारे काफिले पर हुए हमले में हमारे आठ बच्चे घायल हो गए, ये बच्चे बंगाल के थे। भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता हर समय उनके साथ खड़ा रहेगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मैं स्पष्ट शब्दों में कहना चाहता हूं कि आने वाले समय में हम बंगाल में भाजपा सरकार बनाएंगे। ये जो हरकतें आज हुई हैं, ऐसी हजार हरकतें हों फिर भी हम डरने वाले नहीं हैं। हम बंगाल के हर क्षेत्र में जाएंगे और अपने विचार रखेंगे। मैं भाजपा कार्यकर्ताओं को सैल्यूट करता हूं कि किस तरह से आज उनको पीटा गया, मोटर साइकिल गायब कर दी गईं। लेकिन हमारा एक-एक कार्यकर्ता लड़ने को तैयार है। भाजपा के कार्यकर्ता बंगाल में फिर से प्रजातंत्र को बहाल करेंगे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी बंगाल की सुंदर भाषायहाँ की महान संस्कृति के मुरीद हैं लेकिन दूसरी ओर ममता जी की शब्दावली ऐसी है जिसे बोलने में भी शर्म आए। मुझे पता चला है कि उन्होंने मुझे कई नाम दिए हैं। इससे ममता जी की संस्कृति के बारे में पता चलता है। यह बंगाली संस्कृति नहीं है। हमें बंगाली संस्कृति पर गर्व है। मुख्यमंत्री पद की गरिमा क्या होती है शायद ममता जी को ये मालूम नहीं है। ममता जी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के लिए जिस प्रकार की शब्दावली का प्रयोग करती रही हैंवह बताता है कि ममता जी ने पश्चिम बंगाल को कितने निचले स्तर पर ला दिया है.

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने प्रदेश की लचर कानून व्यवस्था की ओर इशारा करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में पिछले एक साल में भाजपा के 130 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई जिसमें सौ कार्यकर्ताओं का तर्पण स्वयं मैंने कोलकाता आकर किया है. भाजपा कार्यकर्ताओं की राजनीतिक कारणों से हत्या हुईइसे बंगाल की जनता कभी माफ नहीं करेगी। बंगाल की जनता को ये तय करना है कि क्या उन्हें ऐसी ही संस्कृति बरकरार रखनी है?  पश्चिम बंगाल में जब चुने हुई जनप्रतिनिधि सुरक्षित नहीं हैं तो आम आदमी की क्या हालत होगी? राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बांग्लादेश से लोग यहां आ रहे हैं और बस रहे हैंलेकिन तृणमूल कांग्रेस राज्य के निवासियों को भगा रही है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ममता सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ममता जी के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल में प्रशासन का सम्पूर्ण राजनीतिकरण और राजनीति का सम्पूर्ण अपराधिकरण कर तथा भ्रष्टाचार को संस्थागत बनाकर कुशासन के एक नए अध्याय का सूत्रपात हुआ है. भ्रष्टाचार का उत्कृष्ट उदाहरण है कि साइक्लोन और कोरोना महामारी में भी भ्रष्टाचार करने से तृणमूल कांग्रेस सरकार पीछे नहीं हटी। एम्फान तूफ़ान के समय प्रदेश की जनता की मदद के लिए केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा हजार करोड़ रुपये एडवांस दिए गए और 12 हजार करोड़ रुपये अलग से भेजने की व्यवस्था की गई थी लेकिन ममता जी ने भ्रष्टाचार में ऊपर से नीचे तक जो संलिप्तता दिखाईउससे हाइकोर्ट तक को कहना पड़ा कि इसका कोई लेखा जोखा नहीं हैइसलिए सीएजी से इसकी ऑडिट कराई जाए लेकिन ममता जी भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंच गईं। ममता जी को आखिर ऑडिट का इतना भय क्यों है? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना महामारी के समय देश की 80 करोड़ जनता के लिए 5 किलो चावल, 5 किलो गेंहू और 1 किलो दाल प्रति परिवार के लिए भिजवाया था लेकिन टीएमसी कार्यकर्ताओं ने इसमें भी भ्रष्टाचार किया और इन अनाजों को तृणमूल कांग्रेस के नेता हड़प ले गए. चावल की चोरी टीएमसी कार्यकर्त्ता के घर से पकड़ी गई.  यह चाल (चावल) चोर की सरकार है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पश्चिम बंगाल की भ्रष्टाचारी तृणमूल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में ‘कट मनी’ जीवन का तरीका हो गया है और ममता सरकार द्वारा राजनीतिक संरक्षण में टोलाबाजीबालू और कोयला सिंडिकेट द्वारा लूट हो रही है. सबसे बड़ी दुःख की बात है कि पश्चिम बंगाल में अंतिम संस्कार में भी कटमनी और रिश्वत देना पड़ रहा है। पश्चिम बंगाल की ऐसी दुर्व्यवस्था ममता सरकार ने बना रखी है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने परिवारवाद से ग्रसित देश की विभिन्न राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, सभी जगह के चुनावों में परिवार की पार्टियों को लोगों ने नकार दिया है और भाजपा को वोट दिये हैं। यही बंगाल में भी होगा, यहां भी लोग पारिवारिक पार्टी को नमस्ते कहने का मन बना लिया है।  मैं बंगाल की जनता को आश्वस्त करने आया हूं कि आपने कांग्रेस को मौका दियाकम्युनिस्टों को भी कई बार मौके दिए और दो  मौके ममता जी को दिए। एक मौका मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा को दे दीजिएहम वर्ष के भीतर सोनार बांग्ला बनाने का वादा करते हैं। मैं निश्चित रूप से कहता हूं कि आगामी चुनाव में बंगाल में हम 200 से ज्यादा सीटों के साथ भाजपा की सरकार बनाने जा रहे हैं.