21वीं सदी के भारत की नींव तैयार करने वाली है राष्ट्रीय शिक्षा नीति: नरेन्द्र मोदी


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को 21वीं सदी के नए भारत की नींव तैयार करने वाला करार देते हुए सात अगस्त को कहा कि अभी तक जो हमारी शिक्षा व्यवस्था है, उसमें ‘क्या सोचना है’ पर ध्यान केंद्रित रहा, जबकि नयी शिक्षा नीति में ‘कैसे सोचना है’ पर बल दिया गया है।

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत ‘उच्च शिक्षा में रूपांतरकारी सुधारों’ पर आयोजित एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को ताकतवर बनाने के लिए, विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचाने के लिए, भारत के नागरिकों को और सशक्त करने के लिए, उन्हें ज्यादा से ज्यादा अवसरों के उपयुक्त बनाने के लिए इस शिक्षा नीति में बल दिया गया है।
  • उन्होंने कहा कि जड़ से जग तक, मनुज से मानवता तक, अतीत से आधुनिकता तक सभी बिंदुओं का समावेश करते हुए इस राष्ट्रीय शिक्षा नीति का स्वरूप तय किया गया है।