कर्म ही है धर्म मेरा, धर्म ही है मेरा जीवन । जीवन ही तो देश मेरा, देश ही मेरा तन मन।।