आकांक्षाओं से उपलब्धियों तक


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की करिश्माई एवं दूरदर्शी नेतृत्व में भारत को सफलता पर सफलता प्राप्त हो रही है। इतना ही नहीं, इन सफलताओं को पूरा विश्व स्वीकार कर अद्भुत उपलब्धियों के रूप में विस्मय भरी नजरों से देख रहा है। आने वाले वर्षों में भी देश यदि इसी तरह से उड़ान भरता रहा तब वह दिन दूर नहीं कि मां भारती विश्व गुरु के अपने आसन पर पुन: आसीन होंगी। यह कुछ ही वर्षों पहले की बात है जब कांग्रेसनीत यूपीए के शासन में देश भ्रष्टाचार, कुशासन, ‘नीतिगत पंगुता’ से जूझ रहा था और चारों ओर निराशा से भरा एक नकारात्मक वातावरण था। पिछले पांच वर्षों की कड़ी मेहनत, अथक प्रयास, अभिनव योजनाएं, भ्रष्टाचारमुक्त सरकार और भारत को एक महान् राष्ट्र बनाने के संकल्प से न केवल देश की स्थिति सुधारी गई बल्कि गौरवशाली भविष्य का मार्ग प्रशस्त हुआ है। देश की इस यात्रा को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का सक्षम नेतृत्व प्राप्त है जिससे प्रेरणा लेकर जन–जन के मन में एक नए क्षितिज को छूने के बीज अंकुरित हुए हैं।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के प्रथम 50 दिन में उठाये गए कदमों से देश में आशा एवं विश्वास का एक नया वातावरण का सूत्रपात हुआ है। जिस प्रकार से संसद के दोनों सदनों ने वर्तमान सत्र में कार्य किया है तथा हाल के वर्षों में अब तक का सर्वाधिक सफल सत्र साबित हुआ है, उससे देश की जनता में एक नया विश्वास जगा है तथा संसदीय लोकतंत्र पर लोगों का भरोसा और अधिक सुदृढ़ हुआ है। इस सत्र में कई महत्वपूर्ण विधेयकों एवं विषयों पर चर्चा हुई है। मोदी सरकार ने जहां किसानों को अपनी प्राथमिकताओं में रखा है वहीं 2022 तक उनके आय को दुगुना करने के लक्ष्य प्राप्ति के क्रम में अनेक किसान समर्थक नीतियां बना रही है। खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़त कर तथा ‘प्रधानमंत्री–किसान योजना’ की परिधि में देश के हर किसान को लाकर सरकार ने बड़े कदम उठाए हैं। इसी तरह श्रमिक कानून में सुधार कर न केवल 49 करोड़ श्रमिकों के कल्याण का कार्य किया बल्कि अर्थव्यवस्था मे गतिरोधों को दूर कर ‘इज ऑफ डूइंग बिजनेस’ के सिद्धांतों को मजबूत किया है। मोदी सरकार 2022 तक 1.95 करोड़ पक्के घरों के निर्माण को प्रतिबद्ध है साथ ही हर घर में गैस और बिजली कनेक्शन पहुंचाने के संकल्प के साथ तेज गति से कार्य कर रही है। वास्तव में देखें तो ग्रामीण क्षेत्र तथा किसानों पर ध्यान देकर मोदी सरकार ने अब तक उपेक्षित भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ को बहुत ही मजबूत कर दिया है। सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से न केवल करोड़ों परिवारों को राहत मिली है बल्कि ‘अंत्योदय’ की अवधारणा के अनुरूप गरीब से गरीब व्यक्ति का सशक्तिकरण भी हुआ है।

अनेक प्रकार की अभिनव योजनाओं के कार्यान्वयन में जिस प्रकार से ‘स्पीड, स्केल एवं स्किल’ दिखा है उससे समाज के गरीब से गरीब व्यक्ति तक इन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचा है जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था की नींव अत्यधिक मजबूत हुई है। यही कारण है कि आज भारत 2024 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को प्राप्त करने के आत्मविश्वास से भरा हुआ है। यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व की शक्ति ही है जिससे अब तक दुष्कर से लगने वाले लक्ष्य भी सुगम बनते जा रहे हैं। चन्द्रयान–2 के सफल प्रक्षेपण से एक आत्मविश्वास से ओत–प्रोत भारत के उदय को पूरा विश्व ने देखा है। आज जब भारत की नीतियों का समर्थन पूरे विश्व में हो रहा है, मोदी सरकार लगभग हर क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। जम्मू–कश्मीर एवं एनआईए पर भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृहमंत्री श्री अमित शाह के संबोधन से यह प्रमाणित हो गया है कि भारत दृढ़ निश्चयी होकर कुशलता से आगे बढ़ रहा है। भारत के इस उदय का महत्व तब समझा जा सकता है जब श्री नरेन्द्र मोदी को पूरे देश के द्वारा एकजुट मिले दो जनादेशों के संदर्भ में देखा जाय। आज हर क्षेत्र में भारत सफलता के झंडे गाड़ रहा है तथा संपूर्ण राष्ट्र की यात्रा आकांक्षाओं से लेकर उपलब्धियों तक हो रही है।

                                                                                                                                     shivshakti@kamalsandesh.org