कांग्रेस ने कभी नहीं किया अम्बेडकर का सम्मान : थावरचंद गहलोत


केंद्रीय मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने 6 जनवरी को कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि देश पर 60 साल राज करने वाली पार्टी ने कभी बाबा साहेब अम्बेडकर को सम्मान नहीं दिया, जबकि केंद्र की मोदी सरकार ने यह काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने बाबा साहेब अम्बेडकर से जुड़े पांच स्थानों जिसमें जन्मभूमि, शिक्षा भूमि, महापरिनिर्वाण और अन्तिम संस्कार स्थल शामिल हैं, को पंचतीर्थ के रूप में स्थापित किया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिल्ली प्रदेश अनुसूचित मोर्चा द्वारा आयोजित भीम महासंगम में पार्टी नेताओं ने विपक्षी दलों पर अनुसूचित जाति के समाज की उपेक्षा करने को लेकर जमकर निशाना साधा। वहीं, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को अगले लोकसभा चुनाव में फिर से प्रधानमंत्री बनाने का भी संकल्प लिया। इस मौके पर समरसता खिचड़ी भी तैयार की गई। नागपुर के श्री विष्णु मनोहर ने एक विशाल बर्तन में पांच हजार किलो खिचड़ी तैयार की। भाजपा नेताओं ने भारत माता के चित्र पर इसका भोग लगाने के बाद भीम महासंगम में पहुंचे कार्यकर्ताओं के साथ इसका सेवन किया। भाजपा नेताओं ने कहा कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अभी तक तीन हजार किलो भोजन एक ही बर्तन में बनाने का रिकॉर्ड नागपुर के शेफ श्री विष्णु मनोहर के नाम है। उन्हीं मनोहर जी ने आज यहां पांच हजार किलो खिचड़ी एक ही बर्तन में बनाने का नया रिकॉर्ड बनाया है।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि अम्बेडकर का मानना था कि किसी के साथ भेदभाव करके समाज में समता और समरसता का माहौल नहीं बन सकता है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में अंत्योदय की योजना इसी उद्देश्य को लेकर शुरू की गई थी। वर्तमान मोदी सरकार भी उसी सोच को साकार करने की दिशा में अग्रसर है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल को समर्थन देने के लिए अनुसूचित जाति मोर्चा कार्यकर्ता तीन लाख घरों में गए। साढ़े चार साल के मोदी सरकार के कार्यों से खुश जनता ने उन्हें एक और कार्यकाल देने के समर्थन के रूप में एक मुट्ठी चावल और आधी मुट्ठी दाल थी।

भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) महामंत्री श्री रामलाल ने कहा कि हर कार्यकर्ता यह संकल्प लेकर जाए कि वह दस-दस परिवारों के बीच जाकर उन्हें प्रधानमंत्री की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देगा। सभी को साथ जोड़ने का कार्य करेगा और दिल्ली में कमल खिलाकर नरेन्द्र मोदी को पुनः प्रधानमंत्री बनाने में जुट जाएगा।

उन्होंने कहा कि अम्बेडकर और मोदी दोनों का विचार समाज को जोड़ने का है। दलितों के नाम पर राजनीति करने वालों पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि उनके सम्मान का जब प्रश्न आता है तो वह कांग्रेस, मायावती और मुलायम सिंह, ममता बनर्जी और केजरीवाल पीछे क्यों हट जाते हैं। राज्यों में भाजपा की सरकार बनने पर ही अम्बेडकर से जुड़े स्थानों का विकास हुआ।

दिल्ली भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष श्री मोहनलाल गिहारा ने कहा कि अलग-अलग जातियों में बंटे दलित समाज ने भीम महासंगम के माध्यम से यहां एक साथ पहुंचकर अपनी एकता का संदेश दिया है।

भीम महासंगम में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सर्वश्री दुष्यंत कुमार गौतम, राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, डॉ. अनिल जैन, सांसद डाॅ. उदित राज, प्रवेश वर्मा, श्रीमती मीनाक्षी लेखी, मिजोरम के प्रभारी श्री पवन शर्मा, दिल्ली भाजपा संगठन महामंत्री श्री सिद्धार्थन आदि उपस्थित रहे। (हि.स.)