‘एबार, पश्चिम बंगो’


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 28 जून को पुरुलिया, पश्चिम बंगाल में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित किया और राज्य की जनता से पश्चिम बंगाल में हिंसा एवं भ्रष्टाचार की राजनीति करने वाली ममता बनर्जी की तृणमूल सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। इससे पहले उन्होंने आज पुरुलिया में डोर-टू-डोर जनसंपर्क किया और लोगों की समस्याओं से रू-ब-रू हुए। उन्होंने संपर्क अभियान के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार की लोक-कल्याणकारी योजनाओं पर भी जनता के साथ विस्तार से चर्चा की।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में हाल ही में पंचायत चुनाव संपन्न हुए हैं, ये स्थानीय निकायों के चुनाव थे, यह पश्चिम बंगाल की सत्ता तय करने वाला चुनाव नहीं था, ममता बनर्जी जी की कुर्सी को इससे कोई ख़तरा नहीं था लेकिन इसके बावजूद चुनाव लड़ने वाले कार्यकर्ताओं को नामांकन दाखिल नहीं करने दिया, कोर्ट के दखल के बाद जब पर्चा भरा गया तो तृणमूल कांग्रेस द्वारा लोगों को धमकाया गया और वोट नहीं डालने दिया। इस सबके बावजूद जब वोटिंग में भारतीय जनता पार्टी की विजय हुई तो हमारे तीन कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि यदि तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी यह समझती हैं कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के तांडव से उनकी सरकार बनी रहेगी तो यह उनकी भूल है, हमारे कार्यकर्ताओं का लहू रंग लाएगा और तृणमूल सरकार पश्चिम बंगाल में लंबे समय तक नहीं चल सकती।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ने कहा कि पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के 20 से ज्यादा युवा कार्यकर्ताओं को चुन-चुन कर मारा गया, 1300 से अधिक पार्टी कार्यकर्ता घायल हुए, कई कार्यकर्ताओं को गलत प्रकार के केस डाले गए और असंख्य कार्यकर्ताओं को भयभीत किया गया। उन्होंने कहा कि कम-से-कम दो करोड़ लोगों को पंचायत चुनाव में वोट नहीं डालने दिया गया लेकिन इस सबके बावजूद भारतीय जनता पार्टी को 6,000 से अधिक सीटों पर विजय मिली और जनता ने भाजपा का झंडा बुलंद किया, यही बताता है कि पश्चिम बंगाल में अगली बार सरकार किसकी चुनकर आने वाली है।
श्री शाह ने कहा कि 2019 का चुनाव पश्चिम बंगाल में अगली सरकार की नींव डालने वाला है। उन्होंने कहा कि 2014 के लोक सभा चुनाव के बाद से भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लगभग सभी चुनावों में ऐतिहासिक जीत हासिल की है और अब पश्चिम बंगाल की बारी है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में एक नारा दिया है – एबार, पश्चिम बंगो। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही पश्चिम बंगाल का विकास कर सकती है और कोई नहीं।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि देश को जब आजादी मिला तब पश्चिम बंगाल देश के सबसे विकसित राज्यों में से एक था, सुजलाम-सुफलाम भूमि थी, यहाँ से चावल देश के बाकी हिस्सों में जाता था। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के समय पश्चिम बंगाल का देश की जीडीपी में हिस्सा 25% था लेकिन वामपंथी शासन और ममता सरकार के कुशासन के कारण अब यह कम होकर 4% रह गया है। उन्होंने कहा कि वामपंथी शासन से पश्चिम बंगाल की जनता को निजात दिलाने के लिए ममता बनर्जी ने माँ, माटी, मानुष का नारा दिया था लेकिन ममता सरकार में पश्चिम बंगाल विकास के मामले में और पीछे चला गया है। उन्होंने कहा कि जब ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की सत्ता में आई तो उस वक्त राज्य पर सामूहिक कर्ज लगभग 1,92,000 करोड़ रुपये था जबकि अब यह बढ़ कर 3,50,000 करोड़ रुपये हो गया है, यही बताता है कि तृणमूल सरकार की गलत नीतियों के कारण पश्चिम बंगाल की क्या दुर्दशा हुई है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में बम बनाने के अलावा कोई और उद्योग-धंधा रह नहीं गया है, सारे कल-कारखाने बंद हो गए। उन्होंने कहा कि राज्य में जिस तरह से ममता बनर्जी का शासन चला है, उससे पश्चिम बंगाल के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती।