स्वर्णिम भविष्य की ओर भारत


श्रीनरेन्द्र मोदी द्वारा पुन: भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही ऐसा प्रतीत होने लगा है कि देश एक नये युग में प्रवेश कर गया है। इस नए युग को भारतीय पटल पर कार्य–आधारित, सुशासन एवं विकास की राजनीति के उदय के रूप में देखा जा सकता है। यह युग देश को ‘सबका साथ, सबका विकास’ की अवधारणा से अभिमंत्रित कर ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के निर्माण का पथ प्रशस्त कर रहा है। यह युग ‘अंत्योदय’ की अवधारणा के प्रति समर्पित है तथा गरीब से गरीब व्यक्ति के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। देश के सर्वांगीण विकास के केंद्र में दलित, आदिवासी, पिछड़ा, महिला एवं युवा को रखकर एक सुदृढ़, समृद्ध एवं आत्मविश्वास से परिपूर्ण भारत के निर्माण का यह युग है। यह एक ऐसा युग है जिसकी प्राथमिकता ग्रामीण भारत है, जो उच्च तकनीक युक्त कृषि का स्वप्न देख रहा है और जिसमें किसान–मजदूर के जीवन के हर क्षेत्र को प्रकाशमान करने की क्षमता है। भविष्योन्मुखी एवं दूरदर्शी नीतियों के माध्यम से एक ऐसे भारत के निर्माण का युग है, जो हर क्षेत्र में अग्रणी हो, विकसित, समृद्ध एवं सुदृढ़ हो। श्री नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही उस युग का आगमन हो गया, जिसमें ‘नए भारत’ के सपनों को साकार करने की सभी संभावनाएं विद्यमान हैं।

भाजपानीत राजग को लोकसभा चुनाव 2019 में मिला जबरदस्त जनादेश प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व एवं अथक परिश्रम का परिणाम है। इसी कठिन परिश्रम एवं तप के बल पर कांग्रेसनीत यूपीए के शासनकाल के भ्रष्टाचार, पॉलिसी पैरालिसिस, कुशासन, आर्थिक गिरावट, कमरतोड़ महंगाई एवं निरंतर बढ़ते बजट घाटे से देश को पिछले पांच वर्षों में उबारने में श्री नरेन्द्र मोदी सफल हुए हैं। कांग्रेसनीत यूपीए के कुशासन के बीच देश को श्री नरेन्द्र मोदी के रूप में एक आशा की किरण दिखाई दी थी, जिसके परिणामस्वरूप कई दशकों के बाद जनता ने भाजपा को 2014 की लोकसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत का जनादेश दिया था। इस जनादेश के पीछे पूरे देश की आशाएं, अपेक्षाएं एवं आकांक्षाएं जुड़ी हुई थी। पांच वर्षों के सकारात्मक कार्य, निरंतरता एवं परिश्रम की पराकाष्ठा के साथ–साथ अभिनव योजनाएं एवं परिणामकारक नीतियों, शासन में नई कार्य–संस्कृति, संस्थाओं को पुनर्जीवन देने वाले कार्य, समयानुकूल निर्णय एवं कभी–कभी कठोर निर्णय लेने की क्षमता के फलस्वरूप आज एक ऐसी सरकार केन्द्र में है जिसकी प्रमाणिकता, विश्वसनीयता एवं कार्यक्षमता से पूरा देश गौरवान्वित हो रहा है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रतिबद्धता का ही परिणाम है कि आज देश एक भ्रष्टाचारमुक्त–सरकार देख रहा है, जो देश के दूर–दराज इलाकों में भी गरीब से गरीब तक सरकारी योजनाओं का लाभ सीधा–सीधा पहुंचाने में सक्षम है। यह पहली बार हुआ है कि समाज की कतार के अंतिम में खड़ा व्यक्ति सरकारी योजनाओं का सीधा लाभार्थी बना है और पक्का आवास, बिजली कनेक्शन, गैस सिलिंडर, शौचालय, बैंक खाता और अन्य मूलभूत सुविधाओं के साथ–साथ अपने परिवार को सामाजिक सुरक्षा एवं दस करोड़ परिवारों को 5 लाख तक का स्वास्थ्य सुरक्षा प्राप्त हो पाया है। इसमें कोई संदेह नहीं कि जिस प्रकार से 2014 में संसदीय दल के नेता चुने जाने के बाद श्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी सरकार को गरीबों, दलितों, आदिवासियों, वंचितों एवं शोषितों के प्रति समर्पित रहने की बात की थी, वे न केवल अपने बातों के लिए प्रतिबद्ध रहे, बल्कि उससे भी आगे बढ़कर सरकार को इन वर्गों के लिए समर्पित किया– इसका परिणाम सबके सामने है- 2014 से भी बड़ा जनादेश जो कि गरीब से गरीब व्यक्ति के आशीर्वाद का परिणाम है। देश की जनता ने जाति, मजहब एवं क्षेत्र की विभाजनकारी दीवारों को तोड़कर यह सुनिश्चित किया है कि भारत सुरक्षित हाथों में रहे और एक सुनहरे भविष्य का आलिंगन करे।

2019 का जबरदस्त जनादेश ने न केवल मोदी सरकार पर जन–जन के भारी विश्वास का परिणाम है, बल्कि विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र की बढ़ती जनाकांक्षाओं के दायित्वों को निर्वहन करने का भी संदेश है। भारत एक ऐसा राष्ट्र है जो प्राचीनकाल से ही भिन्न–भिन्न परंपराओं, मान्यताओं एवं आस्थाओं के बीच विविधतापूर्ण संस्कृति के लिये पूरे विश्व में विख्यात है। यह जबरदस्त जनादेश विभाजनकारी राजनीति को एक मुंहतोड़ जवाब है तथा कार्य–आधारित, सुशासन एवं विकास की राजनीति के विजय का प्रतीक है। यह अत्यंत स्वागत योग्य स्थिति है, जहां लोग अपनी आकांक्षाओं से प्रेरित होकर एक सुदृढ़ एवं समृद्ध भारत के निर्माण के लिए जनादेश दे रहे हैं। जन–जन को यह पूर्ण विश्वास है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के करिश्माई एवं दूरदर्शी नेतृत्व में पूरा देश आज एकजुट उठ खड़ा हुआ है और अब एक गौरवशाली भविष्य भारत की बाट जोह रहा है।

        shivshakti@kamalsandesh.org