निर्विरोध भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष निर्वाचित हुए जगत प्रकाश नड्डा


भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है, लेकिन यहां की गिनी-चुनी पार्टियों में ही आंतरिक लोकतंत्र बचा है। भारतीय जनता पार्टी इस मायने में एक विशिष्ट राजनीतिक दल है जहां लोकतांत्रिक तरीके से नियमित तौर पर संगठनात्मक चुनाव संपन्न होते हैं। ऐसे में जब अधिकांश राजनीतिक दल वंशवाद के महारोग से ग्रस्त हो गए हैं, वैसे में भाजपा में आंतरिक लोकतंत्र का सशक्त होना इसे निश्चित रूप से अन्य दलों से भिन्न बनाता है।

भारतीय जनता पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा बने हैं। गत 20 जनवरी 2020 को दीनदयाल उपाध्याय मार्ग, नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में श्री नड्डा इस पद के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए। राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी और पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री राधामोहन सिंह ने श्री जगत प्रकाश नड्डा के नए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की घोषणा की।

चुनाव प्रक्रिया के दौरान भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष उम्मीदवार के तौर पर श्री नड्डा के नाम का प्रस्ताव निवर्तमान भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री सर्वश्री राजनाथ सिंह एवं नितिन गडकरी, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रीगण एवं पार्टी पदाधिकारियों ने प्रस्तुत किया।

ध्यातव्य है कि नामांकन की प्रक्रिया संपन्न होने के बाद श्री नड्डा इकलौते उम्मीदवार बचे थे। वे तीन साल तक इस पद पर रहेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय संगठनात्मक चुनाव कार्यक्रम की प्रक्रिया के बारे में बताते हुए श्री राधामोहन सिंह ने बताया कि पहले चरण में सदस्यता एवं सक्रिय सदस्यता के अभियान के बाद 75 प्रतिशत बूथ समितियों का गठन होने के बाद, 50 प्रतिशत मंडल समितियों का गठन हुआ। उसके बाद देश भर में 60 प्रतिशत जिलों में विधिवत चुनाव भाजपा के संविधान के अनुसार संपन्न होने के बाद 21 प्रांतों का प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय परिषद् सदस्यों का चुनाव संपन्न हुआ।

विदित हो कि श्री जगत प्रकाश नड्डा ने श्री अमित शाह की जगह ली है। श्री शाह करीब साढ़े पांच साल तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। श्री अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद जून 2019 में श्री नड्डा भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त हुए थे।

भाजपा मुख्यालय में आयोजित स्वागत कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री लालकृष्ण आडवाणी, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, श्री अमित शाह, श्री राजनाथ सिंह, श्री नितिन गडकरी समेत पार्टी के वरिष्ठ नेतागण उपस्थित रहे।