‘मोदी सरकार महिला सशक्तीकरण को समर्पित’

भाजपा की आधारस्तंभ नेता स्वर्गीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जन्मशताब्दी पर आयोजित महिला सशक्तीकरण दौड़ 16 अक्टूबर को दिल्ली पहुंचकर समाप्त हुई। तालकटोरा इनडोर स्टेडियम में आयोजित समापन समारोह में प्रत्येक बूथ पर महिला कार्यकर्ताओं को सशक्त बनाने का संकल्प लिया गया। विदित हो कि 12 अक्टूबर को ग्वालियर से महिला सशक्तीकरण दौड़ शुरू हुई थी।

समापन समारोह में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) श्री रामलाल ने कहा कि भाजपा और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार महिला सशक्तीकरण को समर्पित है। केंद्र और भाजपा शासित राज्य सरकारें मिलकर महिला सशक्तीकरण के लिए कई योजनाएं चला रही हैं। सभी पुरुषों को महिलाओं का सदैव सम्मान करना चाहिए, तभी महिला सशक्तीकरण पूर्ण रूप से सफल होगा।

केंद्रीय मंत्री श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा कि राजमाता को सच्ची श्रद्धाजलि तब होगी, जब हर बूथ स्तर पर 10 बहनें संगठन को मजबूत करने के लिए काम करेंगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को सुरक्षित करने के लिए राजमाता के बलिदान को सदैव याद रखा जाएगा।

दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा कि राजमाता विजयाराजे सिंधिया ने महिला सशक्तीकरण के लिए बहुत काम किया। उन्होंने कांग्रेस की गलत नीतियों का विरोध किया, इसलिए तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उन्हें प्रताड़ित किया। ग्वालियर से लेकर दिल्ली तक की यह दौड़ राजमाता के आदर्शों की प्रेरणा का ही परिणाम है। नई दिल्ली की सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत की शुरुआत राजमाता ने की थी। महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती विजय रहाटकर ने कहा कि यह कार्यक्रम महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए अनूठी पहल है। प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती पूनम पराशर झा ने मंच संचालन किया।