सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करने का संकल्प लें : अमित शाह


भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देश भर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया। पार्टी ने इस अवसर पर देश भर में संकल्प यात्रा की भी शुरुआत की। राष्ट्रीय राजधानी में गांधी संकल्प यात्रा की शुरुआत करते हुए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह ने कहा कि महात्मा गांधी स्वच्छता के आग्रही थे और देश की आजादी के बाद सिर्फ नरेन्द्र मोदी ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने स्वच्छता को जन-आंदोलन में तब्दील कर दिया है।

श्री शाह ने 2 अक्टूबर को रामलीला मैदान शालीमार बाग से गांधी संकल्प यात्रा की शुरुआत करते हुए कहा कि देशभर में भाजपा के कार्यकर्ता आज से लेकर 31 अक्टूबर तक 150 किमी पद यात्रा कर गांधीजी के संदेशों और मूल्यों को जन-जन तक पहुंचाने का काम करेंगे। इस यात्रा में भाजपा सांसद, विधायक, संगठन पदाधिकारी और कार्यकर्ता स्वदेश, स्वधर्म, स्वभाषा और स्वदेशी के मूल्यों को गांव-गांव और घर-घर तक पहुंचाने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि वो महामानव जिसने पूरी दुनिया की समस्याओं को सुलझाने का रास्ता दिखाया, जिसने लोकतांत्रिक मूल्यों की जड़ों को गहरा और मजबूत करने का काम किया, भाजपा कार्यकर्ता उन महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से लेकर 152वीं जयंती तक उनके विचारों को गांव-गांव तक पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदूषण मुक्त स्वच्छ भारत के निर्माण के लिए हम सब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में आगे बढ़ रहे हैं।

श्री शाह ने कहा कि हम गांधीजी के संदेश, बिना काम का धन, विवेकरहित खुशी, बिना चरित्र का ज्ञान, नैतिकता के बिना व्यापार, त्याग के बिना धर्म, मानवता के बिना विज्ञान और सिद्धांत के बिना राजनीति, इन सबका त्याग करने के लिए हम पूरे देश में जागरुकता फैलाएंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को ना कहने की अपील करते हुए कहा कि कहा कि प्लास्टिक हमारे वातारवण और स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वह गांधी जयंती के दिन प्लास्टिक के थैले का उपयोग न करने का प्रण लें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अब देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति दिलाने का संकल्प लेकर निकले हैं। इसे भी जन आंदोलन बनाने की जिम्मेदारी देश की जनता और भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं की है।

उन्होंने कहा कि आज गांधी जयंती के दिन पूरा देश कृतज्ञ भाव के साथ उस महामानव को श्रद्धांजलि दे रहा है, जिसने न केवल देश के आगे जाने का रास्ता प्रशस्त किया, जिसने सत्य और अहिंसा के रास्ते को फिर एक बार दुनिया के सामने रखा। इसके साथ ही भारतीय संस्कृति को पूरी दुनिया में पहचान दिलाई। उन्होंने कहा कि दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदीजी ने जलशक्ति मंत्रालय बनाया। जल संचय करना, जल के बचाव करने के लिए जनता में जागरुकता लाना ये काम मोदी ने अपने हाथ में लिया है औऱ इसी का परिणाम है कि आज देश में लाखों तालाब पानी से भरे हैं।