‘भाजपा सरकार ने तुष्टिकरण की राजनीति की जगह पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस की राजनीति की’

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने 13 अक्टूबर को मेडिकल कॉलेज सभागार, रायपुर में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित किया और उन बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की कि आखिर क्यों छत्तीसगढ़ में पुनः भारतीय जनता पार्टी की श्री रमण सिंह सरकार की आवश्यकता है।
श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी के साढ़े चार सालों के दौरान देश में हुए बदलावों को चार महत्वपूर्ण मानकों के आधार पर समझने की जरूरत है।

पहला: राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के सोचने के स्केल को ऊपर उठाने का अभूतपूर्व प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि पहले योजनायें बनती थी कि इतने लोगों को गैस देना, घर देना है, इतने गांवों में बिजली पहुंचानी है जबकि मोदी सरकार का लक्ष्य है कि हर घर में बिजली हो, गैस सिलिंडर हो, शौचालय हो, हर गरीब के पास अपनी छत हो, हर गांव में पक्की सड़कें हो और शिक्षा व स्वास्थ्य की सुविधाएं हो।

दूसरा: श्री शाह ने कहा कि पहले कांग्रेस पार्टी सरकार चलाने के लिए सत्ता में आती थी, आज देश बदलने और जनता की सेवा के संकल्प के साथ मोदी सरकार काम कर रही है। भारतीय जनता पार्टी ने सरकार में आने के उद्देश्य को बदलने का कार्य किया है। उन्होंने कई लोक-कल्याणकारी योजनाओं का उद्धरण देते हुए कहा कि मोदी सरकार ने पिछले चार सालों में 31 करोड़ से अधिक लोगों के जन-धन खाते खोले। साढ़े 5 करोड़ गरीब महिलाओं को गैस सिलिंडर दिए, साढ़े सात करोड़ से अधिक करोड़ शौचालयों का निर्माण कराया। दो करोड़ घरों में बिजली पहुंचाई, 18 करोड़ छोटे गरीब बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया एवं दो करोड़ घरों का निर्माण कराया है। उन्होंने कहा कि हमने आजादी के 70 सालों तक किसानों की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा करते हुए फसलों के समर्थन मूल्य को लागत मूल्य का डेढ़ गुना करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। अब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी देशवासियों के स्वास्थ्य की चिंता को ध्यान में रखते हुए ‘आयुष्मान भारत’ योजना लेकर आये हैं, जिसके तहत देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को अर्थात् 50 करोड़ से अधिक लोगों को पांच लाख रुपये प्रतिवर्ष तक की मुफ्त बीमा प्रदान की जा रही है।

तीसरा: भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने लोगों को अच्छे लगने वाले फैसले की जगह ऐसे फैसले लिए जो लोगों के लिए अच्छे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने वोट बैंक और तुष्टीकरण की राजनीति की जगह पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस के राजनीति की शुरुआत की और सभी पॉलिटिकल डिबेट को विकास के मुद्दे से जोड़ा। उन्होंने कहा कि पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस की नीति के कारण आज भारत विश्व में सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था के साथ-साथ विश्व की छठी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति के रूप में स्थापित है। बहुत जल्द ही हम पांचवें स्थान पर आने वाले हैं।

चौथा: श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्र सरकार को कई प्रकार के अंतर्द्वंदों से भी बाहर निकालने का काम किया है। उन्होंने कहा कि 70 साल के इतिहास में जितनी भी सरकारें आई, वह कई तरह के द्वंद्वों में फंसी रहती थी कि सरकार किसानों का विकास करेगी या उद्योगों को बढ़ावा देगी। गांवों का विकास करेगी या शहरों का विकास करेगी, रिफॉर्म्स पर ध्यान देगी या लोक-कल्याण राज्य की स्थापना के लिए काम करेगी, विदेश नीति को तवज्जो देगी या रक्षा नीति को। सरकार को ब्यूरोक्रेट्स चलाएंगे या फिर जन-प्रतिनिधि। लेकिन मोदी सरकार ने चार सालों में बिना किसी द्वंद्व में फंसे यह सिद्ध कर दिया है कि एक साथ किसानों का भी विकास हो सकता है तो उद्योगों का भी। साथ-साथ गांवों का कायाकल्प भी किया जा सकता है और शहरों के इन्फ्रास्ट्रक्चर को भी डेवलप किया जा सकता है, रिफॉर्म्स भी हो सकते हैं और जन-कल्याण के कार्य भी बखूबी अंजाम दिए जा सकते हैं। साथ ही, विदेश नीति और रक्षा नीति पर समान रूप से काम किया जा सकता है।

बुद्धिजीवियों से अपील करते हुए श्री शाह ने कहा कि लोकतंत्र में दिशा-विहीन होकर मतदान करना घातक सिद्ध हो सकता है इसलिए आप जनता को जागरूक करें और छत्तीसगढ़ को समृद्ध राज्य बनाने के लिए एक बार पुनः भारतीय जनता पार्टी की रमण सिंह सरकार का गठन सुनिश्चित करें।