पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र नाम की कोई चीज नहीं है : रवि शंकर प्रसाद


भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के खिलाफ विरोध मार्च आयोजित

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद ने 08 अक्टूबर 2020 को पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित किया और तृणमूल सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल सरकार के संरक्षण में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ लगातार हो रही हिंसा और कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में आज पार्टी द्वारा लोकतांत्रिक तरीके से विरोध मार्च आयोजित किया गया। इन प्रदर्शनों में भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

श्री प्रसाद ने कहा कि आज पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार का एक और तानाशाही रूप सामने आया है। पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र नाम की कोई चीज नहीं है। वहां जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसे या तो किसी झूठे मामले में फंसा दिया जाता है या शासन एवं प्रशासन द्वारा तंग किया जाता है या फिर उसकी हत्या कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि विगत कुछ वर्षों में पश्चिम बंगाल में अब तक 115 पार्टी कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या हो चुकी है और इनमें से किसी एक मामले में भी राज्य पुलिस द्वारा कोई प्रामाणिक कार्रवाई नहीं की गई है। विगत 04 अक्टूबर को ही हमारे एक युवा नेता एवं पार्षद श्री मनीष शुक्ला की पुलिस थाने के सामने नृशंस हत्या कर दी गई, जबकि उन्होंने हत्या से पूर्व ही वीडियो बना इस बात की आशंका जताई थी कि उनकी हत्या की जा सकती है। पार्टी के खिलाफ इसी तरह के हिंसात्मक हमले और पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या को लेकर आज भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में लोकतांत्रिक तरीके से शांतिपूर्ण विरोध मार्च का आयोजन किया था।

श्री प्रसाद ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के शांतिपूर्ण विरोध मार्च पर पुलिस और तृणमूल सरकार द्वारा समर्थित अराजक तत्वों द्वारा इतना बर्बर हमला किया गया कि भाजपा के 1,500 से अधिक कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। 70 से अधिक पार्टी कार्यकर्ताओं को संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राजू बनर्जी को गंभीर चोटें आई हैं, उन्हें खून की उल्टियां हो रही हैं। काफी गंभीर परिस्थिति में अपोलो अस्पताल में इमरजेंसी में उन्हें एडमिट कराया गया है। हमारे राष्ट्रीय सचिव श्री अरविंद मेनन भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री तेजस्वी सूर्या के साथ भी धक्कामुक्की की गई। पार्टी के सांसद श्री सौमित्र खान की पत्नी और पार्टी की कार्यकर्ता श्रीमती सुजाता खान को भी गंभीर चोटें आई हैं। बहुत सारे पार्टी कार्यकर्ताओं के सर फट गए हैं और उनके सर में भारी चोटें आई हैं। उत्तर कोलकाता के भाजपा अध्यक्ष श्री शिवाजी सिंह राय को भी गंभीर चोटें आई हैं। विरोध मार्च में महिलाओं के साथ भी बदसलूकी की ख़बरें हैं। कई क्षेत्रों से ख़बरें आई हैं कि प्रदर्शन के रास्ते में तृणमूल समर्थित अराजकतावादी गुंडों द्वारा पथराव किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने जो वाटर कैनन चलाया है, उसमें बहुत ही खराब केमिकल मिलाने की भी आशंका है जिससे लोगों के स्वास्थ्य का नुकसान भी हो सकता है। भारतीय जनता पार्टी शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से हो रहे विरोध प्रदर्शन पर पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा किये गए बर्बरतापूर्ण आचरण की कड़ी भर्त्सना करती है।

श्री प्रसाद ने कहा कि मैं तृणमूल कांग्रेस से विनम्रतापूर्वक कहना चाहता हूं कि यदि आपको लगता है कि पुलिसिया दमन और लाठी के सहारे आप भारतीय जनता पार्टी के विस्तार को पश्चिम बंगाल में रोक लेंगे तो आप इसमें कभी भी सफल नहीं होने वाले। आपने लोक सभा चुनावों के समय भी भाजपा को रोकने की कोशिश की थी, लेकिन हमें राज्य से 18 सीटों का समर्थन राज्य की जनता ने दिया। पश्चिम बंगाल की जमीन से यह स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं कि राज्य में जब भी विधान सभा चुनाव हो, भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनना तय है क्योंकि पश्चिम बंगाल के लोग राज्य में बदलाव के लिए संकल्पित हैं।